स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के पूर्व ड्राइवर पर एक दलित महिला से रेप का आरोप

पीड़िता ने कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाए

नई दिल्ली:पूर्वी सिंहभूम के कदमा थाना क्षेत्र में रहने वाली एक दलित महिला ने झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के पूर्व ड्राइवर प्रद्युत उर्फ मुन्ना पर शादी का झांसा देकर रेप का आरोप लगाया है. पीड़िता ने कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाए. कोर्ट ने पीड़िता की याचिका पर पूर्वी सिंहभूम जिले के कदमा थाने की पुलिस को कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

इस संबंध में महिला के वकील ने बताया कि साल 2012 में पीड़ित महिला अपने पति से तलाक के लिए कोर्ट में मुकदमा लड़ रही थी. तभी उसका संपर्क बन्ना गुप्ता के निजी ड्राइवर प्रद्युत उर्फ मुन्ना से हुआ. इसके बाद मुन्ना की नजदीकियां पीड़ित महिला से बढ़ने लगीं. इसी बीच आरोपी ड्राइवर मुन्ना ने शादी का झांसा देकर उसे अपने विश्वास में लिया और कदमा के त्रिशुल टावर में महिला के साथ शारीरीक संबंध बना लिया.

पीड़िता के वकील के मुताबिक इस दौरान उसका अश्लील वीडियो भी बनाया गया जिसे बाद में वायरल करने की धमकी देकर महिला के साथ कई बार रेप किया गया. हालांकि, साल 2012 में बन्ना गुप्ता स्वास्थ्य मंत्री तो नहीं थे लेकिन विधायक थे. पीड़िता के वकील के मुताबिक महिला को अपने झांसे में लेने के बाद आरोपी उसे झारखंड के अलग-अलग जिलों में ले जाकर उसके साथ रेप करता रहा. आरोपी पीड़ित महिला को लेकर पुरी, उज्जैन, देवघर और रांची भी ले गया जहां उसके साथ रेप किया गया.

प्रद्युत सिंह की नौकरी छूटने के बाद महिला ने अपने फुफेरे भाई को गारंटर बनवाकर प्रद्युत को जेसीबी के लिए लोन भी दिलवाया. साल 2020 में जब उसने प्रद्युत पर शादी का दबाव बनाया तो प्रद्युत ने पति के साथ तलाक के बाद शादी करने की बात कही. जनवरी 2021 में पति से तलाक होने के बाद महिला ने जब शादी का दबाव बनाया तो प्रद्युत शादी से इनकार करने लगा और जान से मारने की धमकी भी देने लगा.

पीड़ित महिला ने मार्च में उसके साथ मारपीट करने का भी आरोप लगाया. महिला के आरोपों के मुताबिक मारपीट की शिकायत वरीय पुलिस अधीक्षक से भी की गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. पीड़ित महिला को डर है कि प्रद्युत उसे जान से मार देगा. महिला ने एसपी, डीआईजी, आईजी, डीजीपी, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, महिला आयोग और अन्य अधिकारियों को पत्र लिख न्याय की गुहार लगाई है.

वकील के मुताबिक पीड़ित महिला को अपने झांसे में लेने के बाद आरोपी उसे झारखंड के अलग-अलग जिलों में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा. आरोपी ने पीड़ित महिला को पुरी, उज्जैन, देवघर और रांची लेकर जहां उसके साथ दुष्कर्म किया गया. यह भी बताया कि उसने जमशेदपुर के डीसी, एसएसपी, सिटी एसपी से गुहार लगाई थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. इसके बाद वह कोर्ट का सहारा लेने को मजबूर हो गई. कोर्ट ने इस मामले में कार्रवाई का आदेश दिया है.

हालांकि, इस मामले में एसएसपी डॉक्टर एम तमिल वानन ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है. पीड़िता से पूछताछ कर मामले की जांच की जाएगी. कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के दफ्तर ने ये भी बताया कि उस चालक को बहुत पहले ही निकाला जा चुका है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button