भ्रष्टाचार के मामले में हाईकोर्ट के पूर्व जज और चार अन्य गिरफ्तार

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने भ्रष्टाचार के एक मामले में ओड़िशा हाईकोर्ट के पूर्व जज इशरत मसरूर कुद्दुसी और चार अन्य को गिरफ्तार कर लिया है.

सीबीआई के सूत्रों की तरफ से ये जानकारी दी गई. यह गिरफ्तारी बुधवार को आठ स्थानों पर विस्तार से छापेमारी के बाद देर रात की गई.

इस दौरान ग्रेटर कैलाश में न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) कुद्दुसी के आवास की भी तलाशी ली गई थी. इसके अलावा भुवनेश्वर और लखनऊ में भी छापे मारे गए थे.

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि मामले में गिरफ्तार हुए अन्य व्यक्तियों में लखनऊ में एक मेडिकल कॉलेज चलाने वाले प्रसाद एजुकेशनल ट्रस्ट के बीपी यादव और पलाश यादव,

एक बिचौलिया विश्वनाथ अग्रवाल और हवाला कारोबारी रामदेव सारस्वत शामिल हैं.

सीबीआई के प्रवक्ता ने कहा, “गिरफ्तार किए गए आरोपियों को आज अदालत में पेश किया जाएगा.”

प्रवक्ता ने बुधवार को बताया था कि एक मेडिकल कॉलेज को नए छात्रों को प्रवेश देने से रोके जाने के मामले को कथित तौर पर रफा-दफा करने के लिए उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

CBI के खिलाफ पुलिस ने दर्ज की FIR

ओड़िशा पुलिस ने बुधवार (20 सितंबर) को सीबीआई अधिकारियों के एक दल के खिलाफ अनाधिकार प्रवेश का एक मामला दर्ज किया,

जिसने छापामारी और तलाशी के लिये मंगलवार देर (20 सितंबर) रात उड़ीसा उच्च न्यायालय के एक वर्तमान न्यायाधीश के घर में कथित तौर पर घुसने का प्रयास किया था.

आरोप है कि उच्च न्यायालय के किसी न्यायाधीश के आवास पर छापेमारी करने के उद्देश्य के लिये किसी कानून प्रवर्तन एजेंसी द्वारा अपनाई जाने वाली मानक प्रक्रिया का भी इस मामले में पालन नहीं किया गया. हालांकि, सीबीआई ने अपने ऊपर लगे इन आरोपों को गलत ठहराया है

[amazon_link asins=’B0751G9L3R,B06XNQJR93,B06XKTG6MR’ template=’ProductGrid’ store=’clipper28-21′ marketplace=’IN’ link_id=’5cbf740d-9ea6-11e7-8b26-dbf68d91b232′]

Back to top button