कर्नाटक के पूर्व उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता परमेश्वर के पीए ने की आत्महत्या

अधिकारियों के छापेमारी के दौरान चार से पांच करोड़ की नकदी ‘जब्त’

कर्नाटक: कर्नाटक कांग्रेस के नेताओं जी परमेश्वर व आर.एल.जलप्पा के बेंगलुरू व राज्य में दूसरे जगहों के परिसरों पर 100 से ज्यादा आयकर विभाग के अधिकारियों के छापेमारी के दौरान चार से पांच करोड़ की नकदी ‘जब्त’ की गई.

जिसके बाद खबर आई कि कर्नाटक के पूर्व उप मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता जी परमेश्वर के पीए रमेश ने आत्महत्या कर ली है. रमेश ने बेंगलुरु के गण भारती इलाके में खुदकुशी की है. पीए की आत्महत्या पर जी परमेश्वर ने कहा कि रेड के दौरान रमेश उनके साथ ही थे. उन्होंने रमेश से रेड के बारे में परेशान नहीं होने के लिए समझाया था.

परमेश्वर ने कहा, वे (रमेश) बहुत मृदुभाषी व्यक्ति था. मुझे नहीं पता है कि आत्महत्या क्यों की. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसी घटना हुई है. बता दें, कर्नाटक के पूर्व डिप्टी सीएम जी परमेश्वर के 30 ठिकानों पर आयकर विभाग ने शुक्रवार को छापेमारी की थी. पहले दिन की छापेमारी के दौरान आयकर विभाग ने 4.52 करोड़ रुपये बरामद किए थे.

उधर आयकर विभाग के सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया, परमेश्वर के पीए रमेश पर कोई छापा नहीं मारा गया था और न ही उनका बयान रिकॉर्ड किया गया था. इसलिए आयकर विभाग इस मामले में किसी भी दृष्टिकोण से गुनहगार नहीं दिखता. केवल परमेश्वर का बयान दर्ज किया गया था.

परमेश्वर और जलप्पा (93) अपने परिवार व रिश्तेदातों के साथ उच्च शैक्षिक संस्थानों की एक चेन के प्रमुख हैं. इन संस्थानों में राज्य के दक्षिण पूर्व में मेडिकल, डेंटल व इंजीनियरिंग कॉलेज शामिल हैं. परमेश्वर और उनके परिवार की ओर से सिद्धार्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन का संचालन किया जाता है.

इसी तरह से जलप्पा ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन है. इसमें चिक्काबलपुर व कोलार में देवराज उर्स इंजीनियरिंग एंड मेडिकल कॉलेज शामिल है. यह दोनों बेंगलुरू से 70-100 किमी पूर्व में स्थित हैं

Back to top button