फेसबुक की एक विवादित पोस्ट पर लाइक कर फंसे पूर्व कश्मीरी छात्र

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद किया था आपत्तिजनक पोस्ट

ग्वालियरः जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षा बलों पर हुए हमले के बाद फेसबुक की एक विवादित पोस्ट को जीवाजी विश्वविद्यालय के पूर्व कश्मीरी छात्र मुसादिक फैजल मल्ला के लाइक करने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने बताया कि फैजल ने विश्वविद्यालय में वर्ष 2016 में प्रवेश लिया था और उसने संस्था को वर्ष 2018 में छोड़ दिया.

पुलिस का दल बनाया गया है जो पूरे मामले की जांच कर रहा है. फैजल अभी कश्मीर में ही है. सूत्रों का कहना है कि जीवाजी विश्वविद्यालय में लगभग 100 कश्मीरी छात्र अध्ययनरत हैं, इन सभी का वैरीफिकेशन किया जा रहा है.

बता दें इससे पहले जयपुर के निम्स यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली कश्मीरी छात्राओं ने पुलवामा की घटना के बाद आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर डाला था, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने आरोपी छात्राओं को हिरासत में लिया था. इन कश्मीरी छात्राओं को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस के सुपर्द किया था.

वहीं ग्रेटर नोएडा स्थित एक कॉलेज ने पुलवामा आतंकवादी हमले के बारे में फेसबुक पर कथित तौर पर विवादास्पद टिप्पणी करने को लेकर एक कश्मीरी छात्र को निलंबित कर दिया था, लेकिन आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के एमबीए अंतिम वर्ष के छात्र इशफाक अहमद ख्वाजा ने दावा किया था कि उसकी तस्वीर लगाकर एक फर्जी प्रोफाइल से शुक्रवार को पोस्ट डाला गया था.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के ही एक अन्य युवक ने भी पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद एक आपत्तिजनक पोस्ट किया था, जिसमें युवक ने लिखा था “Ataah Wanaaan Surgical Strike”, जिसका मतलब होता है, ‘इसे कहते हैं सर्जिकल स्ट्राइक.’

Back to top button