छत्तीसगढ़

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल सपरिवार भूतेश्वरनाथ पहुॅच की शिवलिंग की पूजा अर्चना

हितेश दीक्षित:

गरियाबंद: महाशिवरात्री के अवसर पर प्रदेश के पूर्व कृषि एवं जलसंसाधन मंत्री तथा रायपुर दक्षिण के विधायक बृजमोहन अग्रवाल सहपरिवार भूतेश्वरनाथ धाम में पूजा अर्चना के लिए पहुॅचे। यहां उन्होनें विधिवत भगवान शिव की पूजा अर्चना कर प्रदेश की सुख शांति और खुशहाली का आर्शीवाद मांगा।

उल्लेखनीय है इस क्षेत्र से लगातार जुड़े होने के कारण बृजमोहन अग्रवाल के आगमन को लेकर काफी प्रतिक्षारत थे। उनके आगमन की जानकारी लगते ही बड़ी संख्या में उनके समर्थक और भाजपा कार्यकर्ता भी यहां पहुॅचे थे। इस अवसर पर पूर्व मंत्री अग्रवाल ने सभी लोगो को और यहां पहुचे शिवभक्तो को महाशिवरात्री की शुभकामनायें भी दी।

भूतेश्वरनाथ धाम प्रदेश ही पूरे देश में एक ख्याति प्राप्त शिवलिंग

अग्रवाल ने कहा कि मरौदा स्थित भूतेश्वरनाथ धाम प्रदेश ही पूरे देश में एक ख्याति प्राप्त शिवलिंग है। जिनके प्रति लोगो का अटुट विश्वास है और आस्था है। उन्होने कहा कि भूतेश्वरनाथ को एक धाम के रूप में अंचल में माना जाता है और महाशिवरात्री और सावन मास में यहां पहुचने वाली हजारो श्रध्दालुओ की भीड़ स्वंय इस महिमा का गुणमान करती है।

इस दौरान उनके साथ भाजपा जिला उपाध्यक्ष अनिल चंद्राकर, आशीष शर्मा, अजय रोहरा, नपा अध्यक्षा मिलेश्वरी साहू, भाजपा मंडल अध्यक्ष अनुप भोसले, सागर मयाणी, नूतन देवांगन सहित कई कार्यकर्ता मौजुद थें। कुम्भ के स्वरूप को छोटा कर इसके महत्व को कम कर दिया, प्रदेश अध्यक्ष चुनना संगठन का काम है।

इस दौरान पूर्व मंत्री अग्रवाल पत्रकारो से भी रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि महानदी त्रिवेणी संगम पर स्थित राजिम में हर वर्ष क्षेत्रीय लोगो की आस्था के अनुरूप और उनके विश्वास के साथ भाजपा सरकार द्वारा भव्य कुम्भ मेला का आयोजन किया जाता रहा है।

राज्य सरकार ने इसे प्रदेश से लेकर देश सहित अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रसिध्दी दिलाई परंतु कांग्रेस सरकार द्वारा इसके स्वरूप को छोटा कर यहां के लोगो की भावनाओ पर कुठाराघात किया है। उन्होनंे कहा कि पूरे प्रदेश पांच सौ से अधिक जगह पर माघ पुन्नी मेला का आयोजन होता है राजिम को माघ पुन्नी मेला स्वरूप देकर इसके महत्व को कम कर दिया गया है।

पर्याप्त सुविधाओ की व्यवस्था करने में भी सरकार नाकाम

वही मेला के दौरान समुचित व्यवस्थाएं और साधु संतो के लिए पर्याप्त सुविधाओ की व्यवस्था करने में भी सरकार नाकाम रही। चर्चा मंे उन्हें प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनाये जाने को लेकर किए गए सवाल के जवाब उन्होेने ने कहा कि भाजपा अनुशासित पार्टी है यहं संगठन का मामला है वह तय करेगा।

Tags
Back to top button