पूर्व मंत्री गणेशराम भगत की भाजपा में वापसी, 2013 में नहीं मिला था टिकट

बाग़ी होकर चुनाव लड़ने का परिणाम भगत ने निष्कासित होकर पाया

जशपुर :

भारतीय जनता पार्टी के जशपुर क्षेत्र के वरिष्ठ नेता पूर्व आवास पर्यावरण एवं आदिम जाति मंत्री रह चुके पूर्व मंत्री गणेशराम भगत की भाजपा में वापसी हो गई है। 2013 में पार्टी ने टिकट नही दिया था तो बाग़ी होकर चुनाव लड़ने का परिणाम भगत ने निष्कासित होकर पाया था।

गणेशराम भगत की तकरार और टसल सर्वशक्तिमान जशपुर पैलेस से रही है। जशपुर कुमार युद्धवीर सिंह जूदेव की सीधी ‘ना’ गणेश राम भगत की वापसी में हमेशा रोड़ा बनते रही है।
हालाँकि यह दिलचस्प है कि, राज्यसभा सांसद रणविजय सिंह का संवाद गणेशराम भगत से अनवरत जारी रहा है।

गणेशराम भगत पाँच बार विधायक रह चुके हैं, और वन आवास और पर्यावरण विभाग के मंत्री भी। हालिया दिनों मे जबकि सौदान सिंह जशपुर पहुँचे थे, तब से ही यह क़यास लग रहे थे कि गणेशराम भगत की पार्टी में वापसी हो सकती है।

देर रात भाजपा ने यह घोषणा कर दी है कि, गणेशराम भगत का निष्कासन समाप्त हो गया है। ग़ौर तलब इस घोषणा का समय भी है, पार्टी ने निष्कासन वापस लिया वह भी तब जबकि प्रत्याशियों के नाम घोषित किए जा चुके हैं। याने गणेशराम भगत को कोई टिकट नही मिलने वाली।

Back to top button