अंतागढ़ विधानसभा के विधायक बन कर पहुंचे पूर्व थाना प्रभारी अनुप नाग

तामेश्वर साहू:

गरियाबंद: गरियाबंद जिले में एक ऐसे थानेदार थे जो रिटायर्ड होने के बाद अपने गांव तो चले गए पर साल भर के अंदर विधायक बन कर लौटे। जी हां हम बात कर रहे है अंतागढ़ विधानसभा के विधायक अनूप नाग का।

फिंगेश्वर पहुचे कांग्रेस विधायक अनूप नाग

दरअसल अंतागढ़ विधानसभा के कांग्रेस विधायक अनूप नाग फिंगेश्वर पहुचे, लेकिन इसमें खास बात यह है कि अनूप नाग विधायक बनने से पहले फिंगेश्वर थाना में ना केवल थाना प्रभारी थे, बल्कि इस क्षेत्र उनकी खाफी लोकप्रियता थी,

यह तब देखने को मिला था जब वे रिटायर्ड हुए तो उनकी विदाई समारोह में स्कुली बच्चे सहित जन सैलाब उमड़ पड़ा था, बहुतों की आंखे नाम हो गई थी, और जब अनूप नाग अपने गृह ग्राम अंतागढ़ गए तो वहां कांग्रेस के प्रत्याशी के तौर पर विधानसभा चुनाव लड़े और जीत कर बन गए दरोगा से विधायक, अनूप नाग इस बात को भूले नही है।

उन्होंने कहा कि वे छत्तीसगढ़ में जहा भी जाते है, विदाई समारोह की चर्चा होती है। वैसे अनूप नाग फिंगेश्वर में आयोजित राज्यस्तरीय मानस गान के समापन समारोह में शामिल होने फिंगेश्वर पहुचे। जिनके प्रथम नगर आगमन पर नगर के नागरिकों ने जोरदार स्वागत किया गया।

दूर दराज से लोगो विधायक अनूप नाग से मिलने पहुचे यह देख अनूप नाग बेहद ही खुश हो गए। अनूप नाग राज्यस्तरीय मानस गान के समापन समारोह कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस मौके पर अनूप नाग ने कहा कि पुलिस डिपार्टमेंटल की 30 साल की सर्विश में फिंगेश्वर को मैने अपने जीवन मे बहुत ही महत्वपूर्ण माना है, यहां के लोगो का सद्भावना, प्रेम मेरे प्रति देखने को मिला यही वजह रही कि मैं लम्बे अवधि तक यहां अपनी सेवाएं दी और यहां की जनता ने मुझे सहयोग प्रदान किया इस लिए फिंगेश्वर को मैंने अपना कर्मभूमि मना है और इसी का फल है कि मैन आज थाने दार से अंतागढ़ जैसे पिछड़े आदिवासी अंचल तथा घोर नक्सवाद की पीड़ा झेल रहे विधानसभा क्षेत्र की सेवा करने का मौका मिला है, निश्चित ही मैं फिंगेश्वर के योगदान को कभी नही भूल पाऊंगा।

Back to top button