राष्ट्रीय

कोयला घोटाला मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को 3 साल की जेल की सजा

घोटाले से जुड़े अन्य दो दोषियों को भी तीन साल की सजा सुनाई

नई दिल्ली: झारखंड कोयला ब्लॉक के आवंटन में कथित अनियमितता से संबंधित मामले में घोटाले को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री दिलीप रे को 3 साल की जेल की सजा और घोटाले से जुड़े अन्य दो दोषियों को भी तीन साल की सजा सुनाई गई है.

दिलीप रे अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में कोयला राज्य मंत्री थे. गौरतलब है कि बीते दिनों ही विशेष अदालत ने कोयला घोटाले से जुड़े एक मामले में दिलीप रे को दोषी करार दिया था. उनका ये मामला 1999 में झारखंड कोयला ब्लॉक के आवंटन में अनियमितता से जुड़ा है.

विशेष न्यायाधीश भरत पराशर ने दिलीप रे को भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत दोषी पाया, जबकि अन्य को धोखाधड़ी और साजिश रचने का दोषी पाया गया.

सीबीआई की विशेष अदालत ने दिलीप रे के अलावा कोयला मंत्रालय के तत्कालीन दो वरिष्ठ अधिकारी, प्रदीप कुमार बनर्जी और नित्या नंद गौतम, कैस्ट्रोन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (सीटीएल), इसके निदेशक महेंद्र कुमार अग्रवाल और कैस्ट्रॉन माइनिंग लिमिटेड (सीएमएल) को भी दोषी ठहराया था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button