राष्ट्रीय

कांग्रेसी विधायक गिर्राज की हत्या की साजिश रचने वाले चार बदमाश गिरफ्तार

एक बदमाश एक लाख रुपये का इनामी दस्यु केशव गुर्जर का सगा छोटा भाई

धौलपुर:धौलपुर जिला पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने आज बाड़ी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा की हत्या की साजिश रचने के मामले में चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों में से एक आरोपी करीबन एक लाख के इनामी दस्यु केशव का सगा छोटा भाई है और तीन बदमाश उसके मौसेरे भाई बताए गए हैं.

चारों बदमाश दस्यु केशव गुर्जर के इशारे पर 26 जनवरी को कांग्रेसी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा की हत्या के साथ अन्य वारदातों को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे. चारों बदमाशों को तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर धौलपुर पुलिस ने राजाखेड़ा इलाके से घेराबंदी कर दबोच लिया. बदमाशों से पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है, जिनसे बड़ी वारदातों के खुलासे हो सकते हैं.

धौलपुर के पुलिस अधीक्षक (SP) केशर सिंह शेखावत ने बताया कि पकड़े गए सभी बदमाश आगामी 26 जनवरी को जिले में बड़ी वारदातों को अंजाम देने वाले थे, जिसमें बाड़ी के कांग्रेसी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा की हत्या की भी साजिश थी.

एक लाख रुपये का ईनामी डकैत केशव की ओर से पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए केशव के छोटे भाई और उसके तीनों मौसेरे भाइयों के द्वारा कांग्रेसी विधायक की हत्या की प्लानिंग की गई. जिसका पता पुलिस की साइबर टीम के द्वारा लगाए जाने के बाद सभी बदमाशों को लोकेशन के आधार पर राजाखेड़ा इलाके से पकड़ लिया गया.

एसपी केशर शेखावत ने बताया कि दस्यु केशव गुर्जर की गिरफ्तारी को लेकर जिला पुलिस द्वारा लगातार की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से बदमाशों में दहशत है. इसी को लेकर 21 जनवरी की देर रात्रि को पुलिस को दस्यु केशव के प्यारे का पुरा थाना राजाखेड़ा में साजिशकर्ताओं के बीच आने की सूचना मिली थी.

साइबर टीम ने दी सूचना

पुलिस ने साइबर टीम के माध्यम से मिली सूचना के आधार पर दबिश देकर कांग्रेसी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा की हत्या की साजिश रचने वाले चार साजिशकर्ताओं को दबोच लिया. एसपी शेखावत ने खुलासा करते हुए बताया कि दस्यु केशव के पीछे पुलिस द्वारा हाथ धोकर पड़ने के पीछे विधायक मलिंगा को जिम्मेदार मानते हुए उनकी हत्या की साजिश रचनी शुरू कर दी. जिससे उसके ऊपर से पुलिस का दबाव कुछ हद तक कम हो सके. एसपी ने बताया कि चारों बदमाशों को गिरफ्तार कर पुलिस ने पूछा शुरू कर दी है. जांच के दौरान बड़ी वारदातों के राजफाश हो सकते हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button