छत्तीसगढ़मध्यप्रदेशराज्य

होशंगाबाद के घानाबड़ में नर्मदा में डूबने से चार भाई-बहन की मौत

मृत बच्चों की बड़ी बहन वैशाली गौर और उनके पति को बचाया

होशंगाबाद: होशंगाबाद के घानाबड़ में नर्मदा में डूबने से रायपुर निवासी निर्मेश (21), नमामि उर्फ सिद्धी (12), आयुष (16) और आदी (13) (निवासी हाेशंगाबाद) की डूबने से माैत हाे गई। चाराें बच्चे एक ही परिवार के हैं। इनमें नर्मेश, सिद्धी और आयुष के पिता सगे भाई हैं।

वहीं आदी के पिता अमित परिवार के भांजा दामाद हैं। वैशाली भी भांजी है। आदी और आयुष इकलाैते थे। मृत बच्चों की बड़ी बहन वैशाली गौर और उनके पति को बचा लिया। वैशाली कहती हैं कि एक साथ गंगा दशहरा मनाने की खुशी थी। कुछ दिन पहले ही पति नरेश भाेपाल से रायपुर गांव आए हैं।

हम गंगा दशहरे पर नर्मदा स्नान करने जा रहे थे ताे मामाजी के बच्चे निर्मेश, नमामि (सिद्धी), आयुष, और दीदी का बेटा आदी (13) भी चलने का कहने लगे। हम बाेलेराे से घानाबड़ ब्रिज के पास नर्मदा नदी में पहुंचे। सब किनारे पर कम पानी में नहा रहे थे।

अचानक निर्मेश का पैर फिसला और वह डूबने लगा। बचाने के लिए आयुष मदद करने लगा लेकिन डूब गया। बचाने हम दाैड़े ताे बच्चे सिद्धी और आदी भी डूबने लगे। इसके बाद मैं बेहाेश हाे गई। होश आया तो सुना चाराें बच्चाें की माैत हाे गई। सदमा कभी नहीं भूल सकूंगी।

Tags
Back to top button