राष्ट्रीय

बारामुला एनकाउंटर में चार आतंकी ढेर, एक पैरा कमांडो शहीद

सेना की 32 आरआर और सेना के पैरा कमांडो दस्ते ने की कार्यवाही

श्रीनगर। उत्तरी कश्मीर के बिजी टॉप रफियाबाद (बारामुला) तक आ पहुंचे चार घुसपैठियों को बुधवार सुरक्षाबलों ने एक भीषण मुठभेड़ में मार गिराया। इस दौरान सेना का एक पैरा कमांडो भी गंभीर रूप से घायल हो गया है। मारे गए घुसपैठियों के अन्य साथियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने अपने सैन्य अभियान को जारी रखा हुआ है। घुसपैठियों को मार गिराने के लिए सेना के हेलीकाप्टर के जरिए मुठभेड़स्थल पर पैरा कमांडो दस्ता उतारना पड़ा है।

जानकारी के अनुसार, सेना की 32 आरआर और सेना के पैरा कमांडो दस्ते के साथ मिलकर राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों ने गत रविवार को रफियाबाद के ऊपरी इलाके में घुसपैठियों को देखे जाने की सूचना पर तलाशी अभियान छेड़ा था। यह आतंकी रविवार की सुबह या उससे एक दिन पहले ही उड़ी सेक्टर में एलओसी को पार कर भारतीय इलाके में दाखिल हुए थे। इनकी संख्या से चार से आठ तक बताई जाती है। जवानों ने रफियाबाद की तरफ से आने वादी के भीतरी इलाकों में घुसने के लिए आतंकियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सभी संभावित रास्तों, नालों पर विशेष नाके लगाते हुए पूरे इलाके को चारों तरफ से घेरते हुए तलाशी अभियान चला रखा था। आज सुबह जवानों ने बिजी टॉप में आतंकियों को घेर लिया और उसके बाद वहां शुरू हुई मुठभेड़ में एक पैरा कमांडो जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए सैन्य अस्पताल ले जाया गया।

संबधित सूत्रों ने बताया कि घुसपैठिए एक लाभजनक स्थिति में पोजिशन लिए हुए थे। उनके ठिकाने को घेरने में आ रही दिक्कत को देखते हुए सेना ने हेलीकाप्टर के जरिए पैरा कमांडो दस्ते को उनके ठिकाने के पास उतारा। मुठभेड़ शु़रू होने के बाद सुबह साढ़े ग्यारह बजे के करीब पहली बार आतंकियों की तरफ से गोलियों की बौछार बंद हुई थी। लेकिन जवानों ने जब उनके ठिकाने की तरफ बढ़ना शुरू किया तो उन्होंने दोबारा फायरिंग शुरू कर दी। आतंकियों ने मुठभेड़ के दौरान यूबीजीएल और राइफल ग्रेनेड भी खुलकर इस्तेमाल किए, जिनके धमाकों की गूंज काफी दूर तक के इलाकों में सुनी जा रही थी।

दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे आतंंकियों की तरफ से गोलियों की बौछार पूरी तरह बंद हुई और जब सुरक्षाबलों ने मुठभेड़स्थल की तलाशी ली तो उन्हें गोलियों से छलनी चार आतंकियों के शव मिले। हालांकि राज्य पुलिस महानिदेशक डॉ. एसपी वैद ने भी चार आतंकियों के मारे जाने की पुष्ट की है, लेकिन रफियाबाद स्थित पुलिस अधिकारी ने कहा कि शव हमारे पास नहीं पहुंच हैं, जब शव आएंगे तभी हम इसकी पुष्टि कर पाएंगे।