छत्तीसगढ़

चार बार गहन जांच के बाद मेकाज को मिली सौ सीटों की अनुमति

–अनुराग शुक्ला

जगदलपुर: एमसीआई टीम के चार बार निरीक्षण तथा कठोर जांच के बाद एमसीआई ने स्थानीय मेकाज प्रबंधन को नये सत्र के लिए सौ सीटों पर पढ़ाई कराने की अनुमति प्रदान कर दी है। उल्लेखनीय है कि चार बार की गहन जांच के बाद एमसीआई की टीम ने सौ सीटों की मान्यता इस नए सत्र के लिए दे दी है।

पिछले दो साल से लगातार 100 सीटों की मान्यता मेकॉज को मिल रही है जबकि उसके पहले लगभग 5 साल तक 50 सीटें संचालित हो रही थीं। अब आने वाले समय में मेकॉज प्रबंधन व राज्य सरकार 150 सीटों की अनुमति के लिए प्रयास करेंगे।

पूर्व में एक बार एमसीआई ने यहां की व्यवस्था को नाकाफी बताते हुए सिर्फ पचास सीटों पर ही पढ़ाई के लिए अनुमति दी थी। ऐसे में इस नए शिक्षा सत्र में बिना रुकावट और टीका टिप्पणी के मिली मान्यता का काफी महत्व है। सौ सीटों की मान्यता मिलने के बाद मेकॉज के विस्तार के लिए आगे का रास्ता खुल गया है।

मेकॉज के प्रवक्ता ने बताया कि नए शिक्षा सत्र की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसके अलावा पीजी सहित एमबीबीएस की सीटों को बढ़ाने के लिए भी प्लानिंग की जा रही है।

सौ सीटों की मान्यता मिलने के बाद मेकॉज प्रबंधन और राज्य सरकार अगले शिक्षा सत्र में डेढ़ सौ सीटों की मान्यता के लिए प्रयास करेंगे। इस प्रयास से जहां सौ सीटों की मान्यता सुरक्षित रहेगी वहीं यदि डेढ़ सौ सीटों की मान्यता एमसीआई दे देती है तो मेकॉज प्रदेश के बड़े मेडिकल कॉलेजों में से एक हो जाएगा। इसके अलावा डेढ़ सौ सीटों पर मान्यता मिलने से इसका सीधा असर बस्तर की सेहत पर पड़ेगा। बस्तर में डॉक्टरों का टोटा काफी हद तक कम होगा।

संतुष्टि का फायदा मेकॉज को पीजी की पढ़ाई के लिए भी मिलेगा। मेकॉज प्रबंधन ने पीजी की तीस सीटों की पढ़ाई के लिए एमसीआई में आवेदन दे रखा है। इसके लिए भी पांच से ज्यादा बार एमसीआई की जांच टीम विजिट कर चुकी है।

Back to top button