क्राइमछत्तीसगढ़

23 साल की विवाहिता के साथ चार युवकों ने किया अगवा, फिर दुष्कर्म

मायके वालों से झगड़ कर बुआ के घर जाने के लिए निकली थी महिला

रायगढ़: मायके वालों से झगड़ कर धनागर स्थित बुआ के घर जाने के लिए निकली रायगढ़ शहर के जूट मिल चौकी से लगभग दो किलोमीटर दूर ट्रांसपोर्ट नगर के किनारे बसे गांव की 23 वर्षीय विवाहिता को चार युवकों में से एक ने पास आकर लिफ्ट देने की बात कही। वह युवक की बात में आ गई।

थोड़ी दूर चलने के बाद अचानक अन्य तीन युवक भी आए और महिला को जबरन पास स्थित नर्सरी ले गए। यहां पूरी रात उसके साथ दुष्कर्म किया गया। उसने शोर मचाया तो युवकों ने उसे जान से मारने की धमकी दी। युवकों ने शराब पी हुई थी। महिला बदहवास हो गई, तड़के सूर्य उदय होने से पहले युवक वहां से भाग गए।

थोड़ी देर बाद महिला यहां से निकली और कुछ लोगों की मदद से घर गई। पीडिता की शिकायर पर पुलिस ने संदेह के आधार पर नर्सरी के पास से दो युवकों को पकड़ा। अंधेरा होने के कारण पीडि़त महिला चेहरा स्पष्ट नहीं देख पाई लेकिन हुलिया और भाषा मिलती-जुलती बताई थी।

पकड़े गए युवकों से कड़ाई से पूछताछ हुई तो दो अन्य आरोपियों का सुराग मिला। पुलिस ने इन दोनों को लैलूंगा से गिरफ्तार किया। चारों आरोपी सत्य प्रकाश एक्का, निर्दोष लकड़ा, पवन एक्का, सुलेमान कुजूर लैलूंगा इलाके के रहने वाले हैं।

जूट मिल चौकी पुलिस का कहना है कि पूछताछ में एक युवक द्वारा दुष्कर्म किए जाने का पता चला है। घटना सोमवार रात की है, मंगलवार सुबह आरोपियों के भागने के बाद महिला नर्सरी से बाहर निकली। कुछ लोगों की मदद से अपने घर पहुंची। इसके बाद दोपहर को परिजन के साथ जूट मिल चौकी पहुंच कर वारदात की रिपोर्ट दर्ज कराई।

अभी सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि नहीं: टीआई शुक्ला

पुलिस ने 376, 376घ (गैंगरेप) के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। लेकिन गैंगरेप की घटना से टीआई अमित शुक्ला इनकार किया है। टीआई शुक्ला ने कहा, घटना की जांच चल रही है, महिला को डॉक्टरी परीक्षण के लिए भेजा गया था। सामूहिक दुष्कर्म की बात सामने नहीं आई है । एक आरोपी द्वारा दुष्कर्म और बाकी लोगों के साथ होने के कारण धारा गैंगरेप की लगाई गई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button