मलेशिया में होगा चौथा इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड

मलेशिया में 21 जुलाई 2018 को होगा आयोजन

नई दिल्ली: भोजपुरी सिनेमा का एकमात्र इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड (आईबीफा) इस बार मलेशिया में 21 जुलाई 2018 को होगा. आयोजक ने बताया कि इस अवॉर्ड समारोह में भोजपुरी मेगास्टार मनोज तिवारी, सुनील शेट्टी, रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ, पवन सिंह, खेसारीलाल यादव, रानी चटर्जी, अक्षरा सिंह, काजल राघवानी, स्वीटी छाबरा, गुंजन पंत, गुंजन कपूर, विनय आनंद, कृष्णा अभिषेक, अरविंद अकेला कल्लू, रितेश पांडे, मधु शर्मा, मोनालिशा, आम्रपाली दुबे, संजय भूषण पटियाला, सीमा सिंह, अवधेश मिश्रा, पायल रोहतगी, शिविका दिवान, श्यामली, शुभी शर्मा, गार्गी पंडित, राकेश मिश्रा, निशा दुबे और राजीव मिश्रा सहित अन्य सितारे भी शिरकत करेंगे.

भोजपुरी में अच्छी फिल्में भी बनती हैं

इस अवसर पर भोजपुरी सिनेमा में योगदान देने वाले कुछ विशिष्ठ अतिथियों का सम्मान भी किया जाएगा. साथ ही सवेश्रेष्ठ फिल्मों और कलाकारों तथा टेक्निशियनों का सम्मान भी किया जाएगा. इस समारोह में मलेशिया सरकार की और भारत के कुछ अतिविशिष्ठ अतिथि भी शामिल होंगे. फिल्म प्रचारक संजय भूषण पटियाला ने भोजपुरी फिल्मों और गानों में आई अश्लीलता पर चिंता जताते हुए कहा कि भोजपुरी में बहुत अच्छी फिल्में भी बनती हैं. इस इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड (आईबीफा) के जरिए दिखाया जाएगा कि कितनी अच्छी फिल्में बनी हैं.

विदेश की धरती पर हुई थी अवॉर्ड की शुरुआत

उन्होंने कहा कि भोजपुरी से अश्लीलता खत्म हो इसके लिए कई बड़े कलाकारों को अवॉर्ड समारोह में बुलाया जा रहा है और भोजपुरी का अच्छा स्वरूप दिखाया जाएगा. याशी फिल्म्स के अभय सिन्हा ने अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) के आयोजन की विदेश की धरती पर शुरुआत किया और भोजपुरी फिल्मों के सितारों को देश से बाहर ले जाकर सम्मान दिलाया.

भोजपुरी सिनेमाजगत में उत्साह का माहौल : अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) पहली बार मारिशस में किया गया था, उसके बाद इसका आयोजन दुबई में किया गया फिर पिछले साल अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) का आयोजन लंदन में किया गया और अब 21 जुलाई 2018 को यह चौथा अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) मलेशिया में आयोजित किया जारहा है. भोजपुरी अंतरराष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) ने जहां एक ओर भोजपुरी की आवाज को गांव से निकाल कर सात समन्दर पार परदेस में लाकर चर्चित कर दिया. वहीं दूसरी ओर भोजपुरी की दुनिया को विस्तार देते हुए अंतरराष्ट्रीय प्लेटफॉर्म दिया. इस अवॉर्ड समारोह को लेकर भोजपुरी सिनेमाजगत में उत्साह का माहौल है.

Back to top button