चौथा दल करता गठबंधन तो भी होती प्रचंड जीत : अमित शाह

वाराणसी : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि वर्ष 2019 के चुनाव में विपक्षी पार्टियों ने गठबंधन कर मोदी सरकार को दोबारा आने से रोकने की कोशिश की। यह देख भाजपा ने 50 फीसद मत को पक्ष में करने की रणनीति बनाई। तय हुआ कि एक-दो व तीन नहीं बल्कि चौथा दल भी गठबंधन कर ले तो भी हम 50 फीसद के लक्ष्य को पूरा कर प्रचंड जीत हासिल करेंगे। हुआ भी यही, पीएम मोदी पर जनता ने भरोसा जताया और उप्र में भाजपा को 50 फीसद से अधिक मत मिले। परिणाम आया तो 62 लोकसभा सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों को विजय मिली, जिसने सिद्ध कर दिया कि उप्र भाजपा का गढ़ है।

बड़ा लालपुर स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल में सोमवार को आयोजित कार्यकर्ता अभिनंदन समारोह में अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी पर उप्र की जनता ने भरोसा दिखाते हुए वर्ष 2014 के चुनाव में 73 सीट झोली में डाली। यह क्रम 2017 के चुनाव में बना रहा और करीब सवा तीन सौ सीटें देकर उप्र में भाजपा को सरकार बनाने का अवसर दिया। इसके बाद योगी सरकार में जो विकास कार्य हो रहे हैं उसे देखेंगे तो संकल्प पत्र के वादे पूरे होते नजर आएंगे। योगी सरकार उसी रोड मैप पर चल रही है जो विकास का बीज पीएम मोदी ने उप्र के चुनावी घोषणा पत्र में बोया था। यही वजह है कि 2019 का चुनाव जाति-पाति, धर्म व वंशवाद के आधार पर नहीं बल्कि विकास के नाम पर हुआ। अमित शाह ने भरोसा दिया कि पांच साल के अंदर उप्र देश का सबसे अधिक विकासशील राज्य होगा।

काशी की जनता व कार्यकर्ताओं को प्रणाम
अमित शाह ने काशी की जनता व कार्यकर्ताओं को हाथ जोड़कर प्रणाम करता करते हुए कहा कि पहले से तय था कि पीएम मोदी ही काशी से भाजपा प्रत्याशी होंगे। पीएम मोदी का रोड शो, गंगा आरती के दौरान 45 डिग्री तापमान के बाद भी सड़कों पर उमड़े लोगों का प्यार देखकर समझ में आ गया था कि यहां पीएम मोदी की प्रचंड जीत होगी। पीएम मोदी से कार्यकर्ताओं ने कहा कि आप यहां मत आइएगा, आप पूरे देश में प्रचार करिए। पीएम मोदी को भी काशी की जनता और कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा था। ऐसा कौन प्रत्याशी होगा जो नामांकन के बाद अपने क्षेत्र में प्रचार के लिए न आए।

काशी को चुनने में मोदी ने नहीं की देरी
हम और भाजपा के कार्यकर्ता भाग्यशाली हैं जिनको ऐसा चमत्कारिक नेतृत्व मिला। काशी की जनता भी सौभाग्यशाली है जिनको पीएम मोदी जैसा संसद चुनने का अवसर मिला। कहा कि पीएम मोदी ने जब मणिनगर से विधायक पद को जब छोड़ा तो वह विस क्षेत्र सबसे आधुनिक विस क्षेत्र बन गया था। अब काशी का सांसद बनकर इस आध्यात्मिक व ज्ञान की नगरी को विकासशील बनाया है।

मंडली के साथ बाबा को लाए सामने
इसके बाद पांच साल ने पीएम मोदी चुनौतियों को पार काशी के सांसद का दायित्व निभाया। यहां की पौराणिक थाती को संरक्षित रखते हुए आध्यात्मिक नगरी काशी को आधुनिक बनाने का काम किया। श्रीकाशी विश्वनाथ को अपनी मंडली के साथ पूरे देश के सामने लाने का काम किया। विश्वनाथ धाम को आकार देते हुए बाबा दरबार को विश्व पटल पर लाया।

Back to top button