अंतर्राष्ट्रीयक्राइमछत्तीसगढ़राष्ट्रीय

ठगी करने वाला अंतर्राष्ट्रीय विदेशी नाइजीरियन नागरिक दिल्ली से गिरफ्तार

आरोपी के खिलाफ फेसबुक के माध्यम से महिलाओं को फंसाकर ठगी करने का आरोप

रायपुर:अंतर्राष्ट्रीय विदेशी नाइजीरियन नागरिक को रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ फेसबुक के माध्यम से महिलाओं को फंसाकर ठगी करने का आरोप है। आरोपी को रायपुर पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक प्रार्थिया महिला ने थाना न्यू राजेन्द्र नगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसके फेसबुक आई डी में डाॅ0 रोनाल्ड क्रिस्टोफर नामक व्यक्ति का फ्रेण्ड रिकवेस्ट आया था जिसे प्रार्थिया द्वारा एकसेप्ट किया गया।

उक्त व्यक्ति ने स्वयं को डाॅक्टर होना बताया था। कुछ दिनों बाद प्रार्थिया के मोबाईल फोन पर मोबाईल नंबर 447503990173 एवं 9821965044 से व्हाट्सएप काल आया और इस नम्बर से बात करने वाला डाॅ0 रोनाल्ड क्रिस्टोफर था।

डाॅ0 रोनाल्ड क्रिस्टोफर ने प्रार्थिया को अपने झांसे में लेकर महंगे गिफ्ट भेजने का प्रलोभन देकर दिनांक 17.12.2020 से 21.12.2020 के मध्य अलग – अलग बैंक खातों में विभिन्न किश्तों में प्रार्थिया से कुल 5,00,000/-रूपये (पांच लाख रूपये) जमा कराकर ठगी कर अपना मोबाईल फोन बंद कर दिया। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना न्यू राजेन्द्र नगर में अपराध क्रमांक 17/21 धारा 420 भादवि. 66 डी आई.टी.एक्ट का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

चूंकि अपराध महिला से संबंधित एवं गंभीर प्रवृत्ति का था जिसे पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय श्री अजय यादव द्वारा गंभीरता से लेते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री लखन पटले, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध श्री अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक पुरानी बस्ती श्री मनोज ध्रुव, प्रभारी सायबर सेल श्री रमाकांत साहू एवं थाना प्रभारी न्यू राजेन्द्र नगर श्री विशाल कुजूर को अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सायबर सेल की टीम द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी प्रारंभ किया गया।

सायबर सेल की टीम द्वारा पूर्व में भी इसी तरह से ठगी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई थी। अतः टीम द्वारा इस तरह के तरीका वारदात के आधार पर अपराध घटित करने वाले नाइजीरियन गिरोह पर फोकस करते हुये कार्य प्रारंभ किया गया।

आरोपी एवं प्रार्थिया के मध्य फेसबुक के जिस आई.डी. व मैसेज तथा मोबाईल नंबरों के माध्यम से बातचीत हुई थी उक्त आई.डी. एवं मोबाईल नंबरों का तकनीकी विश्लेषण करने के साथ-साथ प्रार्थिया द्वारा बताये गये खाते, जिनमें प्रार्थिया द्वारा पैसे जमा किये गये थे के संबंध में भी बैंक से जानकारी प्राप्त की गई।

आरोपी के संबंध में तकनीकी विश्लेषण व बैंक खातों के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त कर आरोपी की लोकेशन चिन्ह्ांकित करने में सफलता प्राप्त हुई। प्राप्त लोकेशन के आधार पर सायबर सेल के उपनिरीक्षक अमित कश्यप के नेतृत्व में 04 सदस्यीय टीम दिल्ली रवाना हुई।

दिल्ली में पड़ताल प्रारंभ करने पर यह सुनिश्चित हुआ कि आरोपी द्वारा बहुत ही सर्तकता से अपनी पहचान को छिपाते हुये इस तरह की ठगी की वारदात को अंजाम दिया गया है। आरोपी द्वारा उपयोग किये गये मोबाईल नंबर, फेसबुक आई डी व बैंक खातों के नाम व पते फर्जी थे तथा उन मोबाईल नंबरों एवं बैंक खातों का उपयोग सिर्फ और सिर्फ ठगी की वारदात को कारित करने के लिए किया गया था।

दिल्ली में कैम्प कर रही टीम को तकनीकी विश्लेषण के आधार पर आरोपी के थाना द्वारका मार्ग क्षेत्रांतर्गत स्थित भरत विहार ककरोला में निवास करने के संबंध में अहम सुराग प्राप्त हुआ। जिस पर टीम ने तत्काल बिना समय गंवाये आरोपी के फ्लैट में रेड कार्यवाही कर नाइजीरियन नागरिक आरोपी इग्नातुस चुकवजेक्वउ नौरूका को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी द्वारा प्रार्थिया को अपने झांसे में लेकर प्रलोभन देकर पैसे लेने की बात स्वीकार किया गया।

आरोपी के कब्जे से अपराध से संबंधित 04 नग मोबाईल फोन, 01 नग लैपटाॅप, एटीएम कार्ड, ड्रायविंग लायसेंस, पासपोर्ट, पेन ड्राईव एवं पेन कार्ड जप्त किया गया है। आरोपी मूलतः नाइजीरियन नागरिक है जो वर्तमान में नई दिल्ली के थाना द्वारका मार्ग क्षेत्रांतर्गत स्थित भरत विहार ककरोला में निवासरत था।

पूछताछ में आरोपी द्वारा संपूर्ण भारत में सैकडों महिलाओं को अपने झांसे में लेकर प्रलोभन देकर लाखों रूपये लेना बताया गया है। आरोपी को दिल्ली से गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमाण्ड पर रायपुर लाया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर उसके विरूद्ध थाना न्यू राजेन्द्र नगर में अग्रिम कार्यवाही किया गया।

तरीका वारदात – आरोपी द्वारा फर्जी फेस बुक आई डी बनाकर महिलाओं को फ्रेण्ड रिक्वेस्ट भेजकर दोस्त बनाया जाता है तथा धीरे – धीरे महिलाओं का विश्वास व भरोसा जीतकर कई तरह के लुभावने व प्रलोभन देकर अपने द्वारा दिये गये अलग – अलग बैंक खातों में पैसे प्राप्त कर ठगी किया जाता है।

आरोपी अपनी पहचान गोपनीय रखने के लिए एक अपराध के लिये उपयोग किये गये सिम व मोबाईल उस अपराध के बाद नष्ट कर देते है एवं फेसबुक आई डी को भी डि-एक्टिवेट कर देते है। इनके द्वारा दिये गये सभी बैंक खाते भी फर्जी होते है।

गिरफ्तार आरोपी – इग्नातुस चुकवजेक्वउ नौरूका पिता पाल नौरूका उम्र 35 साल निवासी 102 एगडे यूकेवु एनाम अनाम्बरा नाइजीरिया हाल पता – बी/100 भरत विहार ककरोला थाना द्वारका मार्ग द्वारका नई दिल्ली।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button