खेल

फ्री पास विवाद इतना बढ़ा की दूसरा वनडे इंदौर में नहीं, विशाखापत्तनम में

नई दिल्ली : भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाली पांच मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे विशाखापत्तनम के डॉ वाईएस राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. बीसीसीआई ने बुधवार को इसकी घोषणा की.

पहले यह वनडे 24 अक्टूबर को इंदौर के होल्कर क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाना था. लेकिन बीसीसीआई और मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के बीच मुफ्त पास के आवंटन को लेकर विवाद के कारण इंदौर ने मेजबानी खो दी.

वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे मैचों की सीरीज का कार्यक्रम इस प्रकार है –

21 अक्टूबर: पहला वनडे- गुवाहाटी

24 अक्टूबर: दूसरा वनडे- विशाखापत्तनम

27 अक्टूबर: तीसरा वनडे- पुणे

29 अक्टूबर: चौथा वनडे- मुंबई

1 नवंबर: पांचवां वनडे- तिरुवनंतपुरम

क्या था मामला-

बीसीसीआई और एमपीसीए के बीच मुफ्त पास (मानार्थ टिकट) वितरण को लेकर तनातनी की खबरों के बाद इस मुकाबले को इंदौर से स्थानांतरित किया गया है.

बीसीसीआई के नए संविधान के अनुसार देश के किसी स्टेडियम की कुल दर्शक क्षमता के सिर्फ 10 प्रतिशत टिकट, प्रायोजकों और अन्य लोगों को मुफ्त बांटे जा सकते हैं.

इंदौर के होल्कर स्टेडियम की क्षमता करीब 27,000 दर्शकों की है, जिसमें पवेलियन ब्लॉक और गैलरी समेत सभी श्रेणियों के टिकट शामिल हैं. यानी प्रावधान के मुताबिक एमपीसीए अधिकतम 2,700 मुफ्त टिकट बांट सकता है.

एमपीसीए सचिव ने कहा था कि होल्कर स्टेडियम के पवेलियन ब्लॉक में करीब 7,200 सीटें हैं. लिहाजा तय फॉमूले के मुताबिक हम 720 मुफ्त टिकटों से ज्यादा का इंतजाम नहीं कर सकेंगे. हमें भी अपने सदस्यों और विभिन्न सरकारी एजेंसियों की टिकटों की मांग को पूरा करना होता है.

आखिरकार जल्द मसला नहीं सुलझने के बाद बीसीसीआई ने इस मुकाबले को किसी और शहर (विशाखापत्तनम) में आयोजित करने का फैसला किया.