राष्ट्रीय

फ्रेंडशिप-डे 2018: सच्चे दोस्त,सच्चे मनमीत

दुख का मरहम है दोस्ती

दो दिलों का रिश्ता है दोस्ती। तमाम रिश्तों पर भारी है दोस्ती। दुख का मरहम है दोस्ती तो सुख का कारण है दोस्ती। सच्चा दोस्त एक दोस्त के जीवन में कुछ इस तरह से ही दस्तक देता है।

ऐसे ही सच्चे दोस्त और उसकी दोस्ती को सलाम करने का एक जरिया है फ्रेंडशिप-डे। यह फ्रेंडशिप-डे अगस्त महीने के पहले रविवार को होता है। इस बार फ्रेंडशिप-डे को लेकर दोस्तों की खास तैयारियां भी शुरू हो चुकी है।

बात चाहे लाइफ के सीक्रेट्स शेयर करने की हो या फिर पूरे महिने की सेलेरी एक दिन उड़ाने, हर मौके के लिए लड़कियों के पास एक खास फ्रेंड लिस्ट हमेशा तैयार रहती है।

दुनिया के प्रसिद्ध विद्धानों ने दी दोस्ती की ये परिभाषा……………………

जो सबका मित्र होता है वो किसी का मित्र नहीं होता है।

अरस्तु

एक अकेला गुलाब मेरा बगीचा हो सकता है…एक अकेला दोस्त मेरी दुनिया।

लिओ बुस्कग्लिया

एक सच्चा दोस्त कभी आपके रास्ते में नहीं आता जब तक कि आप गलत रास्ते पे ना जा रहे हों।

अर्नोल्ड एच ग्लासो

किसी जंगली जानवर की अपेक्षा एक कपटी और दुष्ट मित्र से ज्यादा डरना चाहिए, जानवर तो बस आपके शरीर को नुक्सान पहुंचा सकता है, पर एक बुरा मित्र आपकी बुद्धि को नुक्सान पहुंचा सकता है।

भगवान बुद्ध

सभी के साथ विनम्र रहिये, पर कुछ के साथ ही घनिष्ठता बनाइये, और इन कुछ को भी पूर्ण विश्वास करने से पहले अच्छी तरह से जांच लीजिये।

जार्ज वाशिंगटन

मित्रता करने में धीमे रहिये , पर जब कर लीजिये तो उसे मजबूती से निभाइए और उस पर स्थिर रहिये।

सुकरात

दोस्ती कुछ ऐसा नहीं है जो आप स्कूल में सीख सकते हैं। लेकिन यदि आपने दोस्ती का मतलब नहीं सीखा है तो वास्तविकता में आपने कुछ भी नहीं सीखा।

मोहम्मद अली

एक सच्चा मित्र वो है जो उस वक़्त आपके साथ खड़ा है जब उसे कहीं और होना चाहिए था।

लेन वेन

मित्रता अनावश्यक है, दर्शन और कला की तरह……इसके जीवन का कोई महत्त्व नहीं है; बल्कि ये उन चीजों में है जो जीवन को महत्त्व देता है।

सी.यस. लुईस

Back to top button