अगस्त माह से कचरा उठाने वाले को देना होगा किराया, जाने पूरी खबर

रायपुर:

राजधानी में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत रामकी कंपनी द्वारा किए जा रहे डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन के एवज में निगम द्वारा यूजर चार्ज की वसूली शत-प्रतिशत की जाएगी। यूजर चार्ज की वसूली 22 अगस्त से सभी 70 वार्डों में अनिवार्य रूप से लागू हो जाएगा।

निगम प्रशासन ने ठेका कंपनी रामकी को 22 अगस्त तक हर हाल में सभी 70 वार्डों में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था अनिवार्य रूप से लागू करने को कहा है। साथ ही निगम ने रामकी को संकरी में कचरा निष्पादन का प्लांट लगाने की प्रक्रिया शीघ्र शुरू करने को कहा है। इसके अलावा वर्तमान में जारी डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन की व्यवस्था और चाक-चौबंद करने के निर्देश रामकी के संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।

ये होगा स्लैब प्लान

-मकान का क्षेत्रफल

500 वर्गफुट से कम मकान से – 20 रुपए प्रतिमाह
500 से 750 वर्गफीट तक मकान से-30 रुपए प्रतिमाह
751 से 1000 वर्गफु ट तक मकान से-50 रुपए प्रतिमाह
1000 वर्गफुट से अधिक मकान से-100 रुपए प्रतिमाह

-रेस्तरां

ग्राहक कुर्सियां 20 से कम-500 रुपए प्रतिमाह
ग्राहक कुर्सियां 26 से 50 तक-1000 रुपए प्रतिमाह

-होटल/लॉज/ अतिथि गृह

25 कमरों से कम-1000 रुपए प्रतिमाह
25 से 50 कमरे-5000 रुपए प्रतिमाह
50 कमरों से अधिक-15000 रुपए प्रतिमाह
0-बारात घर से-10000 रुपए प्रतिमाह

-शैक्षणिक संस्थाएं

प्राथमिक शाला(शासकीय)-250 रुपए प्रतिमाह
प्राथमिक शाला (निजी )-500 रुपए प्रतिमाह
शासकीय उच्च/ उच्चतर माध्यमिक शाला-2500
निजी उच्च/ उच्चतर माध्यमिक शाला-5 हजार रुपए प्रतिमाह
कॉलेज-20000 प्रतिमाह
विश्वविद्यालय-5 हजार प्रतिमाह
अन्य शैक्षणिक संस्थाएं-1000 रुपए प्रतिमाह

निजी अस्पताल/नर्सिंग होम (जैव चिकित्सकीय अपशिष्ट छोडकर अन्य के लिए)

बिस्तर 20 से कम-5000 हजार रुपए प्रतिमाह
बिस्तर 21 से 100 तक-7 हजार 500 रुपए प्रतिमाह
बिस्तर 100 से अधिक-10 हजार प्रतिमाह
चिकित्सालय-500 रुपए प्रतिमाह
पैथोलॉजी लैब-1500 रुपए प्रतिमाह

Back to top button