अंतर्राष्ट्रीय

जब पानी के 6 मीटर नीचे हुई राष्ट्रपति-मंत्रियों की मीटिंग

मालदीव वह देश है जहां दुनिया की पहली अंडरवाटर कैबिनेट मीटिंग हुई थी. यानी पानी के भीतर राष्ट्रपति और अन्य मंत्रियों ने मीटिंग की

भारत से सिर्फ 600 किमी दूर स्थित देश मालदीव में इमरजेंसी लगा दिया गया है. फिलहाल देश में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल है. मालदीव करीब 1200 आईलैंड पर बसा हुआ छोटा सा देश है और इसकी कई बातें काफी अनोखी है. यह टूरिस्ट के लिए स्वर्ग जैसा माना जाता है. लेकिन हम आपको इस देश की एक बेहद रोचक बात बताने जा रहे हैं. मालदीव वह देश है जहां दुनिया की पहली अंडरवाटर कैबिनेट मीटिंग हुई थी. यानी पानी के भीतर राष्ट्रपति और अन्य मंत्रियों ने मीटिंग की. आइए जानते हैं कैसे

अक्टूबर 2009 में मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद थे. उन्होंने क्लाइमेट चेंज के मुद्दे को सामने लाने के लिए पानी के भीतर कैबिनेट मीटिंग रखी. दिसंबर 2009 में कोपेनहेगन में यूएन क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस होना था और इसी से पहले खास मैसेज देने के लिए ऐसा किया गया

मालदीव छोटे-छोटे आईलैंड पर बसा है और ये समुद्रतल से औसतन 2.1 मीटर की ऊंचाई पर हैं. ऐसे में क्लाइमेट चेंज होने पर अगर समुद्र का जलस्तर बढ़ता है तो इनके डूब जाने का खतरा बना हुआ है.
30 मिनट की कैबिनेट मीटिंग समुद्र तल से 6 मीटर नीचे हुए. इस मीटिंग का उद्देश्य ये दिखाना था कि मालदीव का भविष्य कैसा हो सकता है
पानी के अंदर हुई कैबिनेट मीटिंग में मंत्रियों ने हाथ के इशारे और व्हाइट बोर्ड के जरिए कम्यूनिकेट किया

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

भारत से सिर्फ 600 किमी दूर स्थित देश मालदीव में इमरजेंसी लगा दिया गया है. फिलहाल देश में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल है. मालदीव करीब 1200 आईलैंड पर बसा हुआ छोटा सा देश है और इसकी कई बातें काफी अनोखी है. यह टूरिस्ट के लिए स्वर्ग जैसा माना जाता है. लेकिन हम आपको इस देश की एक बेहद रोचक बात बताने जा रहे हैं. मालदीव वह देश है जहां दुनिया की पहली अंडरवाटर कैबिनेट मीटिंग हुई थी. यानी पानी के भीतर राष्ट्रपति और अन्य मंत्रियों ने मीटिंग की. आइए जानते हैं कैसे…

अक्टूबर 2009 में मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद थे. उन्होंने क्लाइमेट चेंज के मुद्दे को सामने लाने के लिए पानी के भीतर कैबिनेट मीटिंग रखी. दिसंबर 2009 में कोपेनहेगन में यूएन क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस होना था और इसी से पहले खास मैसेज देने के लिए ऐसा किया गया.

मालदीव छोटे-छोटे आईलैंड पर बसा है और ये समुद्रतल से औसतन 2.1 मीटर की ऊंचाई पर हैं. ऐसे में क्लाइमेट चेंज होने पर अगर समुद्र का जलस्तर बढ़ता है तो इनके डूब जाने का खतरा बना हुआ है.

पानी के अंदर हुई कैबिनेट मीटिंग में मंत्रियों ने हाथ के इशारे और व्हाइट बोर्ड के जरिए कम्यूनिकेट किया.

मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने देश में आपातकाल लगा दी है. मालदीव के दो शीर्ष न्यायाधीशों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इससे पहले राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट के नौ राजनीतिक कैदियों की तत्काल रिहाई के आदेश को मानने से इनकार कर दिया था

Summary
Review Date
Reviewed Item
जब पानी के 6 मीटर नीचे हुई राष्ट्रपति-मंत्रियों की मीटिंग
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

Leave a Reply