क्राइमराष्ट्रीय

सिर्फ केनरा बैंक की एटीएम को ही अपना निशाना बनाने वाला गिरोह गिरफ्तार

इस गिरोह का सरगना अनपढ़ है लेकिन अब तक एटीएम से 20 लाख रुपये निकाल चुका है

सूरत:डी बोल्ट नाम की एक कंपनी द्वारा निर्मित केनरा बैंक एटीएम मशीन से पैसे कैसे निकाले जाएं इसका पता रखने वाले गिरोह को सूरत पुलिस ने गिरफ्तार किया है. ये लोग सिर्फ केनरा बैंक की एटीएम मशीन को ही अपना निशाना बनाते थे.

इस गिरोह का सरगना अनपढ़ है लेकिन अब तक एटीएम से 20 लाख रुपये निकाल चुका है. सूरत पुलिस ने दोनों आरोपी हनीफ सैयद और औसाफ हसन मोहम्मद सैयद को शहर के नानपुरा इलाके से गिरफ्तार किया है. एक आरोपी 6 और दूसरा तीसरी क्लास तक ही पढ़ा है. ये शातिर चोर सिर्फ केनरा बैंक के डी बोल्ट कंपनी के एटीएम को ही निशाना बनाते थे.

पुलिस ने बैंक के अधिकारियों से साफ कहा है कि चोरी से बचने के लिए डी बोल्ट कंपनी के लगे सभी एटीएम को जल्द ही बदल दिया जाए. क्राइम ब्रांच ने आरोपियों को पास से 4 डेबिट कार्ड, 2 मोबाइल और समेत एक लाख 10 हजार का सामान मिला है.

पूछताछ में आरोपियों ने सूरत के इच्छापोर, अठवालाइंस और अडाजण थाना क्षेत्र के केनरा बैंक के ATM से चोरी कबूली है. यह मामला तब सामने आया जब शहर में बैंक ठगी और साइबर क्राइम के मामले बढ़ने फिर पुलिस ने जांच शुरू की.

इसी बीच केनरा बैंक के चार ATM का बैलेंस गड़बड़ होने पर जांच की गई. पुलिस ने क्रॉस वेरिफिकेशन किया फिर डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जांच और फोटो से आरोपियों की पहचान कर ली गई.

जांच के दौरान पुलिस को दो आरोपियों की लोकेशन नानपुर में दिखी फिर केनरा बैंक के एटीएम के पास जाल बिछाया गया. यहां दो लोग संदिग्ध अवस्था में घूमते नजर और पुलिस ने इन्हें धर लिया. कड़ाई से पूछताछ के बाद सारे राज इन शातिर चोरों ने खोल दिये.

इस गिरोह के तीनों प्रमुख आरोपी साजिद, इरफान और जहीर पुलिस की गिरफ्त से फरार हैं. पुलिस ने तीनों को पकड़ने के लिए टीमें बनाई हैं. पुलिस का कहना है कि ये बदमाश मेवाती गिरोह के सदस्य हैं. जो देशभर में फ्रॉड और चोरी के लिए देशभर में कुख्यात हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button