उद्यान निर्माण अधूरा छोड़ लगवा रहे टावर, क्षेत्र के लोगों में आक्रोश

अंकित मिंज:

बिलासपुर: तिफरा नगर पालिक में उद्यान निर्माणकार्य में करीब 30 लाख रुपए खर्च हो गए हैं। नगर पालिक ने अधूरा उद्यान बनाकर काम बंद कर दिया है। अब अफसर उद्यान का काम पूरा करने बजाय उसके भीतर मोबाइल टाॅवर लगवा रहे हैं। इससे क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है।

तिफरा नगर पालिक बनने के बाद लोगों की मांग पर नगर पालिक के अफसरों व जनप्रतिनिधियों ने उद्यान बनाने की योजना बनाई। प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा गया। शासन ने प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। काम शुरू करने के लिए राशि भी जारी कर दी।

खाली जमीन पर बाउंड्रीवाल का निर्माण

अधिकारियों ने वार्ड नंबर 7 बाजारपारा की खाली जमीन पर उद्यान बनाने के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कराया। इसके बाद बच्चों के चलने के लिए चार फीट का रास्ता बनाने के साथ ही उसमें टाइल्स लगा दी गई। चारों तरफ पौधे व घास लगाने काम शुरू कर देने के बाद काम को अचानक बंद कर दिया गया।

अब उद्यान के भीतर मोबाइल टॉवर लगाने के पीछे जिम्मेदार अफसर सरकारी आदेश का हवाला दे रहे हैं। तिफरा निवासी सोनू कुमार ने बताया कि उद्यान बनने से लोगों को फायदा होता, लेकिन अधिकारी इस तरह के काम में रुचि नहीं लेते हैं।

देवी प्रसाद ने कहा कि यदि यहां उद्यान नहीं बनाना था तो 25-30 लाख रुपए बर्बाद नहीं करना था। अफसरों को कोई निजी फायदा होगा तभी टाॅवर लगाने की अनुमति दे दी।

नेता प्रतिपक्ष शिव कुमार यादव का कहना है कि जनहित में उद्यान बनाया जा रहा था। इसमें बड़ी राशि खर्च हो चुकी हैं। टाॅवर लगाने का विरोध किया गया। इस मामले में सीएमओ से चर्चा करेंगे।

चारों तरफ पौधे और घास लगाने के बाद काम बंद कर दिया गया। अब मोबाइल टॉवर लगाने का काम शुरू।

अनुमति मिल गई है

उप अभियंता सीएस साहू का कहना है कि शासन के निर्देश पर मोबाइल टाॅवर लगाया जा रहा है। कलेक्टर से अनुमति मिल गई है। इसके लिए एग्रीमेंट भी हुआ है।

1
Back to top button