गरियाबंद : शासकीय कार्यालयों में कार्यरत सभी कर्मचारियों का होगा वैक्सीनेशन

कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने की जिम्मेदारी होगी कार्यालय प्रमुख की

  • 31 मई तक शासकीय कार्यालय आम जनता के लिए प्रतिबंधित

गरियाबंद 18 मई 2021 : कलेक्टर निलेश कुमार क्षीरसागर ने आज अधिकारियों की समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में जिले में कोरोना नियंत्रण के लिए आवश्यक उपायों के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिले के सभी शासकीय कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जायेगा।

31 मई तक शासकीय कार्यालयों में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित है। जिले के सभी एस.डी.एम, सभी जनपद सी.ई.ओ और विकासखंड स्तरीय अधिकारी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऑनलाइन बैठक में जुडे़ थे। कलेक्टर क्षीरसागर ने जिले में अधिक से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने पर जोर देते हुए कहा कि टीकाकरण केन्द्र में पहुंचने वाले सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाये, चाहे व अंत्योदय, बी.पी.एल, ए.पी.एल किसी भी वर्ग का हो। उन्होंने सभी विभागों के कार्यालय प्रमुख अधिकारियों को भी अधिनस्थ अधिकारी-कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के निर्देश दिये। इस हेतु कर्मचारियों का ऑनलाईन पंजीयन कराई जाये।

वैक्सीन

कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने की पूरी जिम्मेदारी विभाग प्रमुख अधिकारी की होगी। इस संबंध में सभी कार्यालय प्रमुख अधिकारी अधिनस्थ कर्मचारियों को वैक्सीन लग चुके होने संबंधी प्रमाण पत्र 01 जून से पहले कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे। कलेक्टर ने सभी एस.डी.एम को इस सप्ताह भी लाॅकडाउन के दौरान कड़ाई बरकरार रखने के निर्देश दिये। उन्होंने जिले में बच्चों में संक्रमण फैलने की सम्भावना को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों को बच्चों का भी एंटीजन टेस्ट कराने निर्देशित किया।

कलेक्टर ने सभी एस.डी.एम को टेस्टिंग बढ़ाने प्रति दिवस 2 हजार टेस्टिंग का लक्ष्य निर्धारित करने कहा। जिले में टेस्टिंग ज्यादा होने से संक्रमण का प्रतिशत कम होगा। कलेक्टर ने अवगत कराया कि 18 प्लस से 44 वर्ग आयु समुह के लिए पंजीयन के आधार पर शासन स्तर से वैक्सीन उपलब्ध कराया जायेगा। जिले को प्राप्त वैक्सीन विकासखंडों को भी वहां हुए पंजीयन के आधार पर ही दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस आयु वर्ग का पंजीयन मोबाईल नम्बर के बिना भी किया जा सकता है।

टीकाकरण केन्द्र 

टीकाकरण केन्द्र में जो भी वर्ग के लोग वैक्सीन लगाने आ रहे है,उन्हें वैक्सीन लगाई जाये। कलेक्टर ने कहा कि 45 प्लस आयु वर्ग के छुटे लोगों को भी कोरोना टीका लगवाने सभी एस.डी.एम विशेष रूप से ध्यान देवंे। शासकीय कार्यालयों में आम जनता के आवाजाही के संबंध में कलेक्टर ने अवगत कराया कि लाॅकडाउन के दौरान 31 मई तक सभी शासकीय कार्यालयों में आम जनता का प्रवेश प्रतिबंधित है।

कार्यालयीन कार्यो के परपस में 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ कर्मचारियों के रोटेशन आधार पर कार्यालय खुलेंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी कार्यालय में कर्मचारी धनात्मक पाये जाने पर अन्य लोग संक्रमित न हो इस हेतु स्टाफ के सभी कर्मचारियों का एंटीजन टेस्ट कराई जाये। यह जिम्मेदारी संबंधित कार्यालय प्रमुख की होगी।

कलेक्टर ने जिले में कोरोना से हुई मृत्यु के कारणों पर ध्यान देने सी.एम.एच.ओ को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों जिले में कोरोना से किसी का मृत्यु न हो इसके लिए सभी एस.डी.एम और चिकित्सकों का प्रयास होना चाहिए। कलेक्टर क्षीरसागर ने कोरोना संक्रमण के तीसरे लहर को ध्यान में रखते हुए पूर्व कार्ययोजना अभी से सुनिश्चित कर लेने सी.एम.एच.ओ को निर्देशित किया। उन्होंने सभी एस.डी.एम को प्राकृतिक आपदा/फसल क्षति/ मकान क्षति के संबध में आर.बी.सी 6-4 के तहत समय पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

एस.डी.एम बाढ़ आपदा प्रबंधन 

सभी एस.डी.एम बाढ़ आपदा प्रबंधन के संबंध में कार्य योजना बनाकर जिला कार्यालय को अवगत कराये। विकासखंड हेतु नियुक्त जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों को कोरोना से हुई मृत्यु के संबंध में संबंधित एस.डी.एम और परिवार से मिलकर विस्तृत जानकारी जिला नियंत्रण कक्ष में उपलब्ध कराने कहा गया। बैठक में सी.एम.एच.ओ ने बताया कि 18 प्लस से 44 वर्ष आयु वर्ग टीकाकरण हेतु अभी तक 20 हजार 957 पंजीयन हुआ है। इसी प्रकार उपसंचालक कृषि ने बताया कि जिले में अभी तक 6 हजार मीट्रिक टन खाद और 14 हजार 500 क्विंटल खरीफ धान बीज का भंडारण किया जा चुका है।

वनमण्डलाधिकारी मयंक अग्रवाल ने जिले में आगामी जुलाई माह से विभाग द्वारा वृक्षारोपण के प्रस्तावित कार्ययोजना से अवगत कराते हुए सभी विभागों से पौधरोपण हेतु चयनित स्थल की जानकारी आगामी तीन दिवस में वन विभाग को उपलब्ध कराने कहा। बैठक में ए.डी.एम जे.आर. चौरसिया, डिप्टी कलेक्टर ऋषा ठाकुर सहित समस्त विभाग के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button