गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने बाबा गोरखनाथ को चढ़ाई खिचड़ी

नेपाल नरेश की भी भेजी खिचड़ी चढ़ती है

गोरखपुर: गोरखनाथ मठ में खिचड़ी चढ़ाने की महत्ता बाबा गोरखनाथ के साथ सदियों से जुड़ी रही है। यही वजह है मकर संक्रांति के पर्व पर यहां खिचड़ी चढ़ाई जाती है। गोरखनाथ मठ की खिचड़ी चढ़ने के बाद नेपाल नरेश की भी भेजी खिचड़ी चढ़ती है।

मकर संक्रांति का पर्व पूरे भारत में बेहद उल्‍लास के साथ मनाई जा रहा है। इस अवसर पर सूबे के मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाई। इससे पहले वह मंदिर में प्रवेश करने के साथ बाबा की पूजा अर्चना में लीन हुए तो प्रधान पुजारी ने बाबा गोरखनाथ की पूजा से शुरुआत की।

इसके बाद श्रद्धालुओं के लिए भी बाबा गोरखनाथ का दरबार खोला जाता है। फिर कतारबद्ध तरीके से श्रद्धालु बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाने के साथ अपनी मनोकामना के पूर्ण होने की कामना करते हैं।

इस दौरान सीएम योगी ने सभी प्रदेश और देश वासियों की मकर संक्रांति के पर्व की शुभकामनाएं दी और इसके महत्त्व को बताया। कहा कि खिचड़ी का महापर्व भारत की पर्व एवं त्योहारों की परम्परा में महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

इस दिन से सूर्य नारायण उत्तरायण में प्रवेश करते है। जो सनातन हिन्दू धर्म-संस्कृति में हर प्रकार के शुभ एव मांगलिक कार्यो को प्रारम्भ करने के लिये पुण्य माना जाता है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के अन्दर अलग-अलग नाम एवं रूप में यह पर्व मनाया जाता है।

उत्तरी भारत में जहां इसे ‘खिचड़ी महापर्व’ के रूप में इस त्योहार को मनाया जाता है। वहीं दक्षिण भारत में ‘पोंगल’, पंजाब में ‘लोहड़ी’, बंगाल में ‘तिलवा संक्रान्ति’, असम में ‘बिहु’ आदि नामों से इस पर्व एवं त्योहार को मनाया जाता है।

1
Back to top button