खेल

अभ्यास के बिना विश्व कुश्‍ती चैंपियनशिप में मेडल जीतना मुश्किल : गीता फोगाट

नई दिल्ली: अनुभवी पहलवान गीता फोगाट का मानना है कि हाल में समाप्त हुई विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत के लचर प्रदर्शन का कारण अभ्यास की कमी है. भारत का 24 सदस्यीय दल पेरिस में विश्व चैंपियनशिप में एक भी पदक नहीं जीत पाया. उन्होंने शिकायत की कि उन्हें मुख्य स्थल से 250 से 300 किमी दूर एक स्थानीय क्लब में अभ्यास के लिये मजबूर किया गया और वहां सुविधाओं का अभाव था. गीता ने कहा, ‘विश्व चैंपियनशिप दुनिया की सबसे कड़ी प्रतियोगिता है. विश्व चैंपियनशिप में पदक हासिल करना बहुत मुश्किल होता है, यहां तक ओलिंपिक से भी ज्यादा मुश्किल. ऐसे में अगर कोई शत प्रतिशत तैयार नहीं हो तो पदक जीतना असंभव है.’

उन्होंने एक कार्यक्रम से इतर कहा, ‘मुझे विनेश (फोगाट) और अन्य ने बताया कि टूर्नामेंट से 15 दिन पहले पेरिस पहुंचने पर उन्हें अभ्यास सुविधाएं मुहैया नहीं करायी गईं. उन्होंने यहां तक कि अभ्यास के लिये दूसरा पहलवान भी उपलब्ध नहीं कराया क्योंकि दूसरे देशों का कोई भी पहलवान वहां नहीं पहुंचा था.’ गीता ने कहा, ‘मैं नहीं जानती कि इसका दोष भारतीय कुश्ती महासंघ या पेरिस के आयोजकों पर मढ़ा जाए लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे खिलाड़ी एक महत्वपूर्ण टूर्नामेंट से पहले अभ्यास नहीं कर पाए.’

गौरतलब है कि गीता और उनके पिता महावीर फोगाट के कुश्‍ती से जुड़े संघर्ष पर बनी फिल्‍म दंगल ने जबर्दस्‍त सफलता हासिल की है. गीता फोगट पिछले साल शादी के बंधन में बंधीं. उनकी शादी हरियाणा के उनके गांव बलाली में हुई जिसमें अभिनेता आमिर खान विशेष रूप से शामिल होने के लिए गीता के गांव पहुंचे. आमिर खान ने दंगल फिल्‍म में महावीर फोगाट का किरदार निभाया था. अपनी शादी में गीता ने बॉलीवुड एक्टर आमिर खान को भी निमंत्रण दिया था. आमिर भी सिर पर लाल पगड़ी बांधकर अपनी सह कलाकर साक्षी तंवर और सान्या मल्होत्रा के साथ सीधे मुंबई से गीता और उनके पूरे परिवार को शुभकामनाएं देने उनके गांव पहुंचे थे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button