राजनीतिराष्ट्रीय

राजस्थान में गहराता जा रहा गहलोत सरकार पर संकट, जाने वजह

गहलोत की मीटिंग से पायलट और समर्थक मंत्री नदारद

नई दिल्ली: राजस्थान का सियासी घटनाक्रम तेजी से बदलता दिखाई दिया। दरअसल राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर सरकार गिराने का आरोप लगाते हुए हमला बोला वहीँ बीजेपी का कहना था कि यह सारा मामला कांग्रेस के अपने भीतर का है। सीएम गहलोत और डेप्युटी सीएम सचिन पायलट के बीच आपसी खींचतान की चर्चा तेज है।

इन चर्चाओं को बल तब मिला, जब शुक्रवार से पायलट दिल्ली में है। इतना ही नहीं, शनिवार की रात हरियाणा के मानेसर में राजस्थान के 24 विधायक एक बड़े होटल में पहुंचे। यह कुछ वैसी ही स्थिति बनती दिख रही है, जैसे मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक तमाम विधायक पहले हरियाणा के गुड़गांव और फिर कर्नाटक में जाकर एक रिसोर्ट में ठहरे थे।

रोचक है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी यंग ब्रिगेड के अहम सदस्य रहे पायलट और सिंधिया दोनों आपस में बहुत अच्छे दोस्त हैं। तमाम चर्चाओं के बीच एक चर्चा यह भी है कि पायलट बीजेपी के संपर्क में हैं।

सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की ओर से जब संपर्क करने की कोशिश की गई तो राजस्थान के कई विधायकों के फोन स्विच ऑफ मिले। पता चला है कि कांग्रेस महासचिव एवं राज्य के प्रभारी अविनाश पांडे भी शनिवार को जयपुर पहुंचे।

तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच सीएम अशोक गहलोत ने देर रात अपने मंत्रियों की एक बैठक बुलाई जिसमें पायलट और उनके तमाम समर्थक मंत्री शामिल नहीं हुए। पायलट के कहा जा रहा है कि दिल्ली में होने के चलते वह उस बैठक में शामिल नहीं हो पाए। हालांकि प्रदेश अध्यक्ष होने के बावजूद राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने पर पार्टी द्वारा उन्हें सीएम ने बनाए जाने पर पहले से ही नाराजगी चल रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button