निकोटीन की लत से मुक्ति पाना होगा आसान, अपनाएं ये तरीका

निकोटीन की लत से मुक्ति पाना बहुत कठिन होता है। दरअसल तम्बाकू एक मीठा जहर है, एक धीमा जहर। जो धीरे-धीरे आदमी की जान लेता है।

सबसे बड़ी बात तो यह है कि तम्बाकू के सेवन से जीवनी शक्ति का भी ह्रास होता है।

व्यक्ति को पता चल जाता है कि तम्बाकू का सेवन हानिकारक है पर बाद में लाख छुड़ाने पर भी यह लत छूटती नहीं हैं।

तमाम उपायों के बावजूद सिगरेट, तंबाकू जैसे पदार्थों के सेवन से छुटकारा नहीं मिल पाता।

अमेरिकी शोधकर्ताओं ने इसकी लत से निजात पाने का नया तरीका ईजाद करने का दावा किया है।

वैज्ञानिकों ने एक विशेष प्रोटीन की 3डी संरचना बनाने में सफलता हासिल की है।

इस की मदद से निकोटीन मोलेक्यूल के प्रभाव का विश्लेषष्ण कर इसकी लत से निजात पाना अब संभव हो सकेगा।

अल्फा-4-बीटा-निकोटीनिक रिसेप्टर नामक प्रोटीन मस्तिष्क के नर्व सेल्स में जगह बना लेते हैं।

धूम्रपान करने या तंबाकू सेवन के दौरान निकोटीन रिसेप्टर के साथ मजबूती के साथ जुड़ जाते हैं।

ऐसी परिस्थिति में प्रोटीन ही आयन को कोशिका में जाने का मार्ग प्रशस्त करता है।

इस प्रक्रिया से स्मृति बढ़ती है और ध्यान केंद्रित करने में भी मदद मिलती है।

लेकिन, इससे लत लगने का खतरा बहुत ज्यादा रहता है।

वैज्ञानिकों के अनुसार, इस प्रक्रिया को नियंत्रित करके निकोटीन की लत से छुटकारा मिल सकता है।

Back to top button