शुगर क्रेविंग से पाना है छुटकारा तो अपनाएं ये टिप्स

डायबिटीज के साथ-साथ दिल के रोग, दांतों खराब होने और वजन बढ़ने जैसी प्रॉब्लम हो सकती हैं

हर किसी को मीठा खाना बहुत पसंद होता है। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें खाने के बाद या बेवक्त मीठा खाने की तलब लगती है, जिसे शुगर क्रेविंग कहते हैं। मगर ज्यादा मीठा खाने की आदत आपकी हेल्थ के लिए अच्छी नहीं है। ज्यादा मीठा खाने से खून में शुगर का लेवल बढ़ जाता है और डायबिटीज के साथ-साथ दिल के रोग, दांतों खराब होने और वजन बढ़ने जैसी प्रॉब्लम हो सकती हैं। अगर आप भी शुगर क्रेविंग से परेशान है तो आज हम आपको इसके कारण और कुछ ऐसे तरीके बताएंगे, जिससे आप इस समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

शुगर क्रेविंग के कारण

1. खाने में खूब सारा कार्ब होना

कई भोजन ऐसे होते हैं, जिसमें कॉर्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। ऐसे भोजन को काने से आपके खून में शुगर लेवल बढ़ जाता है और आपको मीठा खाने का मन करता है।

2. बहुत ज्यादा नमक वाला खाना

जब भी आप नमक वाला या मसालेदार भोजन का सेवन करते हैं तो बॉडी बैलेंस को बनाए रखने के लिए आपका मीठा खाने का मन करता है और आपका हाथ ऑटोमेटिकली स्वीट पर चला जाता है।

3. साइकोलॉजिकल कारण

खाने के बाद मीठा खाने का मन करने के पीछे साइकलॉजिकल कारण भी है। जैसे ही आप खाना खाते हो आपका मूड बन जाता है। मीठा खाने के एडिक्शन के कारण आपके ब्रेन में सेरोटिन नाम का केमिकल रिलीज होता है जो मीठा खाने के बाद आपको हैप्पी और रिलेक्स फील करवाता है।

>शुगर क्रेविंग से छुटकारा पाने के उपाय

1. अनसैच्युरेटेड फैट लें

अक्सर डाइडिंग के लिए आप फैटी फूड को डरकर ऑयली चीजें खाना पूरी तरह से छोड़ देते है, जोकि सेहत के लिए सही नहीं है। फैट से भूख लगने में कमी आती है और खून में भी शुगर कंट्रोल रहती हैं। अगर आप सैच्युरेटेड फैट की जगह अन्सैचुरेटेड फैट्स जैसे ऑलिव ऑयल, फलीदार सब्जियां और मछली का सेवन करेंगे तो शुगर क्रेविंग काफी हद तक कम हो जाएगी।

2. हेल्दी फूड आइटम

कई बार काम के चक्कर में आप सही टाइम पर खाना नहीं खा पाते और जब खाना खाते है तो अनहेल्दी फूड आइटम्स को अपने भोजन में शामिल कर लेते हैं। जिससे आपके खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। इससे बचने के लिए आप अपने डिब्बे में हमेशा ड्राई फ्रूट्स, मखाने, भुने हुए चने या मूंगफली रखें। इसे आप लंच से पहले खा सकते हैं। इनसे आपको इंस्टेंट एनर्जी भी मिलेगी और शुगर क्रेविंग की समस्या भी दूर होगी।

3. लंबी सांस लें, भूल जाएंगी स्ट्रेस

शुगर क्रेविंग का एक कारण स्ट्रेस भी है। ऐसे में आप जब भी किसी बात को लेकर स्ट्रेस या टेंशन में हो और आपका कुछ मीठा खाने का मन तो लंबी सांस ले। डीप ब्रेथ लेने और प्राणायाम करने से स्ट्रेस के हार्मोन कोर्टिसोल को कंट्रोल करके शुगर क्रेविंग की प्रॉब्लम को दूर करेंगे। इसके लिए कुछ घंटों के अंतराल पर कम से कम पांच बार गहरी सांस लें। इससे आपकी शुगर के लिए क्रेविंग को कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलेगी।

4. गहरी नींद लें

बिजी शेड्यूल के चलते आप अपनी नींद भी पूरी नहीं कर पाते और न ही गहरी नींद में सो पाते हैं। कम नींद लेने पर आपका एनर्जी लेवल लो रहता है, ऐसे में हाई शुगर वाले फूड खाने की इच्छा तेज हो जाती है, क्योंकि इंस्टेंट एनर्जी के लिए ये ऑप्शन चुनना आसान होता है। ऐसे में 8 घंटे की साउंड स्लीप लेने से आपकी शुगर क्रेविंग काफी हद तक कम हो जाएगी।

new jindal advt tree advt
Back to top button