बॉयफ्रेंड के सामने से लड़की को उठाया, जंगल ले जाकर सात लोगों ने किया गैंगरेप

झारखंड में बलात्कार का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां राजधानी से महज 40 किलोमीटर की दूरी पर बुंदू जंगल में सात लोगों ने आदिवासी लड़की को अगवा कर उसके प्रेमी के सामने ही बलात्कार किया। घटना के बाद तमार के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली पीड़िता लड़की को मेडिकल जांच हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया है। जहां पुलिस को रिपोर्ट का इंतजार है। दूसरी तरफ पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया, ‘गांव के निवासियों की मदद से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।’ माधिकामा गांव के रहने वाले एक निवासी के अनुसार, ‘दोनों नाबालिग पास के छोटे से गांव में शादी समारोह में शामिल होने के लिए आए थे। आधी रात तक चले समारोह के बाद पीड़िता अपने दोस्तों के साथ पास के आम के बाग में मीता (आदिवासी समुदाय में प्रेमी को मीता कहा जाता है) से मिलने के लिए गई। जहां एक गिरोह के सात लोगों ने उसे अकेले देखा और लड़की को जबरन वहां से उठाकर ले गए।’

वहीं इस दौरान पीड़िता का प्रेमी किसी तरह वहां से भागा और मदद के लिए गांव में आया। जहां गांव के निवासियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर दो आरोपियों को धर दबोचा। जबकि पांच अन्य फरार होने में कामयाब रहे। वहीं बुंदू थाने के पुलिस इंस्पेक्टर संचमान तमांग ने बताया कि गिरफ्तार किए गए दो लोगों की पहचान मुकेश लौहार (18) और ब्रजेश्वर मुंडा (20) के रूप में हुई। दोनों आरोपी उसी गांव के हैं जहां पीड़िता शादी समारोह में शामिल होने के लिए आई थी।

दूसरी तरफ आईपीसी की धारा 341 और धारा 376 के साथ पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करने के बाद बिरसा मुंदा केंद्रीय जेल में भेज दिया गया है। तमांग ने आगे बताया कि दोनों गिरोह के उन सात लोगों में शामिल थे जिन्होंने पीड़िता के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया। वहीं अन्य अपराधियों की तलाश की जा रही है। दूसरी तरफ जांच के लिए पीड़िता को रांची सदर हॉस्पिटल भेज दिया गया है। मामले में रिपोर्ट का अभी इंतजार है।

Back to top button