गर्लफ्रैंड का खर्च उठाता था कारें चुरा कर चोर

नई दिल्ली.पुलिस ने इंटर स्टेट गैंग के 3 वाहन चोरों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से चोरी की गईं 12 एसयूवी मिली हैं। पुलिस ने बताया कि गैंग का मास्टरमाइंड अपनी लग्जरी लाइफ स्टाइल और गर्लफ्रैंड का खर्च उठाने के लिए दिल्ली-एनसीआर से गाड़ियां चुराता था। उसके खिलाफ 1997 में चोरी का पहला मामला दर्ज हुआ था। इसके बाद पुलिस से बचने के लिए ‘चोर कुनाल’ ने 2012 में प्लास्टिक सर्जरी करा ली। पुलिस को लंबे वक्त से उसकी तलाश थी

62 केस दर्ज…
डीसीपी साउथ-ईस्ट दिल्ली, रोमिल बानिया ने रविवार को बताया कि सभी आरोपी साउथ दिल्ली, साउथ-ईस्ट दिल्ली और फरीदाबाद के आसपास के इलाकों में एक्टिव थे। गैंग के मास्टरमाइंड का नाम कुनाल है। उसके खिलाफ दिल्ली-एनसीआर में वाहन चोरी के 62 केस दर्ज हैं। पुलिस को चकमा देने के लिए उसने 5 साल पहले प्लास्टिक सर्जरी भी कराई थी। 13 अक्टूबर को कालकाजी पुलिस ने कुनाल, उसके दो साथियों इरशाद अली और मोहम्मद शादाब को नेहरू प्लेस इलाके से गिरफ्तार किया गया। तब वह चोरी की गई एक कार बेंचने की फिराक में घूम रहे थे। इनके बाकी साथियों की तलाश की जा रही है।

इंजिन-चेचिस नंबर बदलकर बेंचते थे गाड़ियां
पुलिस के मुताबिक, सुपरचोर कुनाल और उसके साथी पहले इंश्योरेंस कंपनियों के द्वारा ‘टोटल लॉस’ डिक्लेयर की गई गाड़ियों के डॉक्युमेंट जुटाते थे। इसके बाद उसी मॉडल की कार चोरी करते थे, जिसका चेचिस और इंजिन नंबर बदलने कर बेंच देते थे।

Back to top button