मुख्यमंत्री बघेल शिक्षकों की नियुक्ति आदेश देने की तारीख बताएं-विष्णु देव साय

युवाओं के सफल प्रदर्शन और उनके दर्द से भयभीत प्रदेश सरकार ने अपने तीन विधायकों को भेज पुनः उन्हें छलने का प्रयास किया हैं-भाजपा

  • मियाद बढ़ा कर युवाओं को छलने वालों को कल प्रदेश के युवा कोई मियाद नहीं देंगे-विष्णु देव साय
  • सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद नियुक्तियां न देकर मियाद बढ़ाना बेरोजगार युवाओं के साथ छल हैं
  • कभी पुलिस भर्ती, कभी एसआई भर्ती अब शिक्षक भर्ती को लटका कर युवाओं को रोजगार पाने से रोका जा रहा हैं
  • सत्ता के मद में कांग्रेस के नेता युवाओं की भावना से खिलवाड़ कर रहे हैं
  • प्रदेश में रोजगार देने वाली नहीं, रोजगार के अवसरों तक को छिनने व लटकाने वाली सरकार हैं
  • चुनाव पूर्व युवाओं से किया वादा भूल चुकी हैं कांग्रेस

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय ने शिक्षक भर्ती की मियाद बढ़ाये जाने और आज मुख्यमंत्री निवास के घेराव के लिए निकले युवाओं को राजधानी के तीन विधायकों द्वारा आश्वासन दिए जाने को लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त की हैं। उन्होंने प्रदेश सरकार पर बेरोजगार युवाओं के साथ छल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में शिक्षाकों के 14,580 पदों के लिए लिखित परिक्षा और पात्रता सत्यापन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद भी प्रदेश सरकार द्वारा नियुक्तियां न देकर सिर्फ मियाद बढ़ाना बेरोजगार युवाओं के साथ छल करना हैं। प्रदेश में करीब सवा साल से शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को बहाना बना कर लटकाया जा रहा हैं यह दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पूछा

उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पूछा कि मियाद और आश्वासन नहीं युवाओं को रोजगार चाहिए। रोजगार के नाम पर कोरोना का बहाना बना कर मियाद बढ़ाया जाता हैं और जब युवा सड़क पर मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने उतरते हैं तब उन्हें तीन विधायकों को भेज कर छला जाता हैं यह युवाओं के साथ अन्याय हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शिक्षकों की नियुक्ति आदेश देने की तारीख बताने और युवाओं को छलने से बाज आने कहा हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय ने सरकार को चुनाव से पूर्व किया वादा याद दिलाते हुए पूछा कि कहां हैं रोजगार? प्रदेश के भोले भाले युवाओं को रोजगार के नाम पर क्यों ठगा और छला जा रहा हैं? प्रदेश के जिन युवाओं ने लिखित परक्षा दी, भर्ती की सारी प्रक्रिया पूरी की उन युवाओं को मियाद बढ़ा कर बहाने बना कर छला जा रहा हैं क्या यह उचित हैं? क्या मियाद बढ़ा कर युवा भविष्य को अधर में लटकाना ही रोजगार देना हैं?

रोजगार के नाम पर युवाओं से झूठे वादे

क्या मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने निकले युवाओं के सफल प्रदर्शन और उनके दर्द से भयभीत प्रदेश सरकार ने अपने तीन विधायकों को भेज कर पुनः उन्हें छलने का प्रयास नहीं किया हैं? यदि नहीं तो नियुक्ति पत्र देने की तारीख बताये सरकार। ऐसे में कैसे युवा नए रोजगार और रोजगार के अवसरों की कल्पना और सरकार पर विश्वास कर सकता हैं? उन्होंने कहा कि रोजगार के नाम पर युवाओं से झूठे वादे कर सरकार में आने वालों का असली चेहरा उजागर हो गया हैं।

यह सरकार रोजगार देने वाली नहीं अपितु रोजगार के उपलब्ध अवसरों तक को छिनने व लटकाने वाली सरकार हैं। प्रदेश की जनता ने देखा हैं किस प्रकार से कभी पुलिस भर्ती, कभी एसआई भर्ती को लटका कर युवाओं को रोजगार पाने से रोका गया। भाजपा अध्यक्ष विष्णु देव साय ने कहा कि अब तो हद हो गयी शिक्षक भर्ती की मियाद बढ़ा कर और मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने निकले युवाओं को झूठा आश्वासन दे कर कांग्रेस की सरकार ने स्पष्ठ कर दिया कि चुनाव पूर्व किया वादा वे भूल चुके हैं।

उन्होंने कहा कि सत्ता के मद में कांग्रेस के नेता युवाओं की पीड़ा नहीं समझ रहे, युवाओं की भावना से खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि आज आपकी सरकार ने मियाद बढ़ा कर युवाओं को छला और ठगा हैं कल यही छत्तीसगढ़ प्रदेश के युवा आपको कोई मियाद नहीं देंगे। लोकतांत्रिक प्रक्रिया युवाओं के हाथ में हैं और प्रदेश के युवा ही आपको सबक भी सिखाएंगे।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button