सर्दियों में सोना और खाना आपकों बना सकता है फैटी, कैसे जानें

ऐसे में रूटीन में मामूली बदलाव कर वेट को कंट्रोल में रखा जा सकता है

सर्दी का मौसम शुरू हुआ नहीं कि लोगों को वजन बढ़ने की चिंता सताने लगती है। इसकी सबसे बड़ी वजह आपकी गलत डेली रूटीन है जिसमें ज्यादा खाना और ज्यादा सोना शामिल है। ऐसे में रूटीन में मामूली बदलाव कर वेट को कंट्रोल में रखा जा सकता है।

शकरकंद कम करेगा वजन

सर्दियां शुरू होते ही वजन धीरे-धीरे बढ़ने लगता है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि इसकी एक वजह है सर्दियों में खाया जाने वाला ज्यादा फैटी फूड। लेकिन खाने के अलावा भी कई ऐसे कारण हैं, जो इस मौसम में वजन बढ़ाते हैं।

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो सर्दियों में अपने वजन बढ़ने को लेकर चिंता में रहते हैं तो बढ़ते वजन को कंट्रोल करने के लिए अपनी रूटीन में ऐसे करें बदलाव…

एक्सर्साइज न करना

सर्दियों में गर्मियों के मुकाबले ज्यादा तेजी से वजन बढ़ता है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि ठंडी हवा में लोग घरों से निकलने से कतराते हैं, जिससे एक्सर्साइज नहीं हो पाती। इसी वजह से वजन धीरे-धीरे बढ़ने लगता है।

ज्यादा सोना

सर्दियों के दिन छोटे और रातें लंबी हो जाती हैं, जिस कारण आप ज्यादा सोते हैं। इससे ‘बॉडी साइकल’ भी सुस्ती का शिकार हो जाती है, जिससे वजन बढ़ जाता है।
शकरकंद कम करेगा वजन

सर्दियों का खाना

मौसमी फल के साथ-साथ इस मौसम में लोग मसालेदार भोजन भी ज्यादा खाते हैं। इससे शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाती है। सर्दी में हम सभी को चाय या कॉफी के साथ पकौड़े, भजिया जैसे तरह-तरह के स्नैक्स खाना पसंद होता है। ऐसे में शरीर में फैट और हाई कैलरी इकट्ठा होती है जिससे वजन बढ़ने की समस्या होती है।

मेटाबॉलिजम बढ़ना

मेटाबॉलिज्म बढ़ने से मोटापा कम होता है लेकिन इस प्रक्रिया में अगर एकदम से वृद्धि हो जाए तो यह वजन घटाने की बजाए बढ़ा देता है। सर्दियों में मेटाबॉलिजम की दर थोड़ी तेज हो जाती है।

सीजनल इफेक्टिव डिसऑर्डर

कई शोध में यह बात सामने आई है कि सर्दियों में बाकी मौसम की तुलना में भूख ज्यादा लगने लग जाती है। इसे सीजनल इफेक्टिव डिसऑर्डर भी कहा जाता है।

new jindal advt tree advt
Back to top button