राष्ट्रीय

दिवाली और धनतेरस से पहले सोना-चांदी महंगा

नई दिल्ली: धनतेरस और दिवाली से ठीक पहले सोना और चांदी की कीमतें बढ़ गई हैं. गौर करने वाली बात यह है कि पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार की आरे से सर्राफा कारोबारियों को राहत दिए जाने के बाद भी सोना और चांदी की कीमतों में उछाल आया है. सोना-चांदी के आभूषणों की खरीदारी मानदंड में ढील दिये जाने के बाद लिवाली बढ़ने से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोमवार (9 अक्टूबर) को सोने का भाव 70 रुपये की तेजी के साथ 30,620 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया. अब तक 50,000 रुपये अथवा इससे अधिक के आभूषणों की खरीदारी पर ग्राहकों को स्थायी खाता संख्या (पैन) और आधार कार्ड जानकारी देनी पड़ती थी. इस सीमा को अब बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दिया गया है. उत्तर कोरिया की परमाणु योजनाओं को लेकर बढ़ी चिंता से भी वैश्विक बाजार में तेजी का रुख रहा. घरेलू बाजार में भी इसका असर दिखा. यह सर्राफा में तेजी का लगातार तीसरा दिन था. उससे पहले दो दिन इसमें 175 रुपये की तेजी आई.

औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की उठान बढ़ने से चांदी की कीमत भी 100 रुपये की तेजी के साथ 40,700 रुपये प्रति किग्रा हो गई. सरकार ने धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत रत्न एवं आभूषण विक्रेताओं को सूचना देने की जरूरत से भी बाहर कर दिया इसका भी सर्राफा बाजार पर अनुकूल असर रहा. सरकार ने पीएमएलए कानून, 2002 के तहत व्यवसायियों और पेशेवरों को बहुमूल्य धातुओं, कीमती पत्थरों और अन्य मूल्यवान सामग्रियों के बारे में पूर्वसूचना देने के लिए 23 अगस्त की अधसूचना को वापस ले लिया है.

वैश्विक स्तर पर सिंगापुर में सोना 0.48 प्रतिशत बढ़कर 1,282.20 डॉलर प्रति औंस हो गया. राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 और 99.5 शुद्धता वाले सोने का भाव प्रत्येक 70 रुपये की तेजी के साथ क्रमश: 30,620 रुपये और 30,470 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुए. हालांकि, छिटपुट सौदों के बीच गिन्नी 24,700 रुपये प्रति आठ ग्राम पर अपरिवर्तित रही.

सोने की ही तरह चांदी तैयार की कीमत भी 100 रुपये बढ़कर 40,700 रुपये प्रति किलो और चांदी साप्ताहिक डिलीवरी 270 रुपये की तेजी के साथ 39,870 रुपये प्रति किलो हो गई. हालांकि, चांदी सिक्का लिवाल 74,000 रुपये और बिकवाल 75,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर पूर्ववत रहा.

पीएम मोदी ने सर्राफा कारोबारियों को दिया ये तोहफा
दिवाली और धनतेरस से पहले केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकर ने देश भर के ज्वेलरी कारोबारियों को राहत दी है. सर्राफा कारोबारियों को मनी लांड्रिंग एक्ट से बाहर कर दिया है. सरकार ने KYC नियमों में बदलाव किया है. नए नियम के तहत 2 लाख रुपए तक की ज्वेलरी खरीदने के लिए पैन कार्ड या आधार कार्ड का विवरण नहीं देना होगा. अब तक यह सीमा 50 हजार रुपए थी. यानी अब अगर आप ज्वेलरी शॉप से 2 लाख रुपए तक की ज्वेलरी खरीदेंगे तो आपको पैन नंबर देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इसके अलावा, मोदी सरकार छोटे कारोबारियों को कुछ शर्तों के साथ जीएसटी रिटर्न फाइल करने में छूट देने की तैयारी में है. इस फैसले से देशभर के करीब 5 करोड़ छोटे कारोबारियों को फायदा होगा. माना जा रहा है पीएम मोदी कल यानी शनिवार को गुजरात दौरे पर इसका ऐलान कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, सालाना 1.3 करोड़ रुपये का टर्नओवर करने वाले कारोबारियों को हर महीने के बजाय तीन महीने पर भी रिटर्न फाइल करने की सुविधा देने पर भी विचार कर रही है. निर्यातकों को मार्च 2018 तक GST में छूट देने की संभावना है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
दिवाली
Author Rating
51star1star1star1star1star
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.