रेल अटेंडर के पास से 30 लाख रुपए का सोने का कंगन बरामद

अंकित मिंज:

बिलासपुर: रेल में 30 लाख रुपए का सोने का कंगन के साथ एसी कोच के अटेंडर को हिरासत में लिया गया। हावड़ा से हापा जा रही एक्सप्रेस के एसी कोच के अटेंडर ने इस वारदात को अंजाम दिया है। जीआरपी ने धारा 102 सीआरपीसी के तहत मामला पंजीबद्ध किया है।

रायपुर के ज्वैलर्स के लिए भिजवाए गए थे 72 नग जड़ाऊ कंगन

हावड़ा से हापा जा रही हापा एक्सप्रेस शनिवार को दिन में 11ः15 बजे के लगभग चांपा रेलवे स्टेशन में रुकी। वहां से ट्रेन के बिलासपुर की ओर रवाना होते ही आरपीएफ स्कार्टिंग टीम के प्रधान आरक्षक एपी लहरे ने सभी कोच में संदेहास्पद लग रहे सामान की जांच शुरू की।

एसी बी1 कोच के अटेंडर के पास पहुंचकर उससे उसका केबिन खोलने कहा। ट्रेन दोपहर 12 बजे के बाद बिलासपुर स्टेशन पहुंची तो आरपीएफ के स्थानीय स्टाफ के साथ मिलकर एसी अटेंडर शोभित मुदलियार को नीचे उतारा। उसे बाक्स के साथ पोस्ट लाया गया। उसके सामने ही बाक्स खोला गया तो आरपीएफ जवानों के होश उड़ गए।

उसके अंदर अलग-अलग पेपर में लिपटे 72 नग सोने के जड़ाऊ कंगन निकले। पोस्ट प्रभारी डी बस्तिया ने बाक्स की जांच की तो उसमें से सोने के कंगन की रसीद और उसका वजन मिला। सोने के कंगन कोलकाता पश्चिम बंगाल से आरजी इंटरनेशनल ने रायपुर सदर बाजार स्थित आरजे ज्वेलर्स के लिए पार्सल भिजवाया था।

बिल में 550 और ताैल में 970 ग्राम निकले कंगन

आरपीएफ ने सोने के कंगनों को निकालने के बाद उसकी गिनती की। वह 72 नग था। जिसका वजन बिल में 550 ग्राम और कीमत 16 लाख 98 हजार 898 रुपए अंकित है। इसके बाद आरपीएफ ने बुधवारी बाजार से एक ज्वेलर्स को बुलवाया और सभी कंगन की जांच कराई। कंगन सोने के ही थे।

पोस्ट प्रभारी बस्तिया ने अपने सामने कंगन का वजन कराया ताे सभी कंगन का वजन 970 ग्राम निकला। दोबारा जांच करने पर भी उतना ही निकला। जिसकी अनुमानित कीमत ज्वेलर्स के मुताबिक 30 लाख रुपए है। इससे संदेह गहरा गया और फिर पूछताछ शुरू हुई।

आयकर विभाग को दी सूचना

आरपीएफ प्रभारी ने जैसे ही देखा कि बिल में अंकित सोने का वजन और उसके वास्तविक वजन में काफी अंतर है तो उन्होंने कर चोरी का संदेह व्यक्त करते हुए आयकर विभाग को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही आईटी इंस्पेक्टर बी चौधरी और उनके साथ असिस्टेंट कमांडेंट पोस्ट पहुंचे और संपूर्ण जानकारी एकत्र करके चले गए।

रायपुर के ज्वेलर्स ने बाक्स में दवा होना बताया

आरपीएफ प्रभारी बस्तिया ने जब रायपुर आरजे ज्वेलर्स के संचालक से फोन पर पूछताछ की तो उसने बताया कि बाक्स में दवा है। जिसे कोलकाता से मंगवाया गया है। जब व्यापारी को दवा नहीं कुछ और सामान होने की जानकारी दी गई तो उसने सब सच बता दिया कि उनमें सोने के 72 नग कंगन हैं और उनका ही है, वे आकर ले जाएंगे।

1
Back to top button