छत्तीसगढ़

राष्ट्रीय सेवा योजना की स्वर्ण जयंती वर्ष का होगा आयोजन

विद्यार्थियों में साहित्यिक रूचि बढ़ाने की पहल

रायपुर। उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय की अध्यक्षता में गुरुवार को मंत्रालय महानदी भवन में राष्ट्रीय सेवा योजना की राज्य स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में पूर्व सत्र के राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रमों की समीक्षा की गई और आगामी सत्र की प्रस्तावित गतिविधियों पर विचार-विमर्श किया गया। पांडेय ने बैठक में विश्वविद्यालयों के कुलपतियों से इस संबंध में विचार-विमर्श किया।

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वर्ण जयंती वर्ष 24 सितम्बर 2018 से 24 सितम्बर 2019 की अवधि में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर राज्य में राष्ट्रीय सेवा योजना की विशिष्ट उपलब्धियों को दशार्ते हुए। पत्रिका का प्रकाशन किया जाएगा। छात्र-छात्राओं में सांस्कृतिक रूचियों के साथ ही साहित्यिक अभिरूचि को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न साहित्यकारों, सम-सामयिक विषयों पर आधारित लेखन कला और वक्तृत्व कला पर आधारित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रमों के आयोजन के लिए राज्य स्तर पर स्थान,भवन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए कमिश्नर रायपुर और कलेक्टर रायपुर से जमीन,भवन की उपलब्धता के संबंध में चर्चा की जाएगी।

अस्थायी रूप से राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रमों का आयोजन साइंस कॉलेज आडिटोरियम में किया जाएगा। बैठक में उच्च शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव भुवनेश यादव, आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग एस. बासवराजू, राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रिय कार्यालय भोपाल के डीके उपाध्याय, विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, भारतीय रेडक्रास सोसायटी, नेहरू युवा केन्द्र, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, विभिन्न विश्वविद्यालयों की राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक एवं विभागीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.