राष्ट्रीय

यात्रियों के लिए अच्छी खबर: हवाई किराए हुए 38% तक सस्ते

नई दिल्ली: अगले सोमवार से त्योहारी हफ्ता शुरू हो रहा है और दिलचस्प बात ये है कि इस बार आखिरी समय हवाई किरायों में गिरावट देखी गई है. आमतौर पर त्यौहारी मौसम में मांग में बढ़त के चलते हवाई यात्राओं का किराया बढ़ जाता है. हालांकि जानकारों का कहना है कि विमानन कंपनियों ने कुछ रूट्स पर क्षमता बढ़ा दी है जिसके कारण हवाई किरायों में गिरावट आई है. आम तौर पर त्योहारी मौसम में हवाई सफर की कीमतें आसमान छूती हुई नजर आती हैं.

सस्ते हुए हैं हवाई किराए

ऑनलाइन यात्रा पोर्टल यात्राडॉटकॉम के द्वारा साझा किये आंकड़ों के मुताबिक, प्रमुख मार्गों जैसे दिल्ली-मुंबई और हैदराबाद-दिल्ली के किराये में क्रमश: 38 फीसदी और 32 फीसदी की गिरावट देखी गयी है. ऑनलाइन यात्रा सेवा देने वाले पोर्टल के मुताबिक दिवाली से पहले दिल्ली से मुंबई तक की उड़ानों के लिए किराया 2500 से 3000 रुपये के बीच शुरू होता है. इसी तरह चेन्नई से दिल्ली के बीच किराये की सीमा 4200 से 5000 रुपये के बीच है.

हैदराबाद से दिल्ली के बीच किराया 4500 रुपये से लेकर 5500 रुपये तक है. हालांकि अब जब एयर फेयर में 38-32 फीसदी की कमी आई है तो ऑनलाइन हवाई टिकट बुक करने के ऑनलाइन पोर्टल मेक माई ट्रिप पर दिल्ली-मुंबई के किराए 2000 के दायरे में दिखाई दे रहे हैं.

क्लियर ट्रिप पर भी कम हैं किराए

क्लियर ट्रिप के प्रमुख (हवाई और वितरण) बालू रामचंद्रन ने कहा, “सभी विमानन कंपनियों द्वारा कम किराये के साथ उच्च क्षमता लगाने के कारण पूरे सीजन का कुल किराया घट गया है.” कुछ क्षेत्रों जैसे दिल्ली-बेंगलुरु और मुंबई-गोवा के किरायों में क्रमश: 15 फीसदी और 19 फीसदी की वृद्धि देखी गयी है.

ज्यादातर पॉपुलर रूट्स पर घटे हैं किराए

यात्रा के मुख्य परिचालन अधिकारी (बीटूसी) शरत धल्ल ने कहा, “पॉपुलर रूट्स पर एयर ट्रैवलर्स के लिए क्षमता बढ़ाये जाने के कारण पिछले साल की तुलना में इस साल आखिरी मिनट के किराये में कमी देखी गयी है. हालांकि, उन मार्गों पर जहां हवाई कैपेसिटी में अहम बढ़ोतरी नहीं की गई है, वहां हवाई किराए अभी भी ऊंचे हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
हवाई किराए
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.