बिज़नेस

खुशखबरी: अब आप अपने पीएफ में घटा सकते हैं 2-3 प्रतिशत अंशदान

खुद दर्ज कर सकते हैं नौकरी छोड़ने की तारीख

नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) के अन्दर काम करने वाले कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर आई है. केंद्र सरकार ने दो जबरदस्त बदलाव किया है, जिसके तहत अब आप अपने पीएफ में 2-3 प्रतिशत अंशदान घटा सकते हैं. दूसरा, अब आप आपने नौकरी छोड़ने की तारीख खुद दर्ज कर सकते हैं.

श्रम मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि 25 से 35 साल की उम्र वाले कामकाजी महिलाएं, विकलांग प्रोफेशनल व नौकरीपेशा पुरुष के प्रोविडेंड फंड में अंशदान घटा सकने के कदम पर विचार हो रहा है. मंत्रालय 2-3 फीसदी कम पीएफ कंट्रिब्यूशन की इजाजत के जल्द मंजूरी दे सकता है.

मौजूदा नियमों के तहत कर्मचारियों को अपनी बेसिक सैलरी का 12 फीसदी हिस्सा अनिवार्य रूप से कर्मचारी प्रोविडेंट फंड के तहत देना होता है. इतनी ही रकम उनके नियोक्ता की ओर से जमा किया जाता है.

इस नए कदम के लागू होन से कर्मचारियों की इन-हैंड सैलरी ज्यादा हो जाएगी. अधिकारी का कहना है कि सरकार जल्द इस पर फैसला ले सकती है.

मंत्रालय ने कर्मचारियों के हितों का ध्यान में रखते हुए एक और फैसला लिया है. अब कोई भी नौकरीपेशा पीएफ खाताधारक ऑनलाइन नौकरी छोड़ने की तारीख खुद दर्ज कर सकेगा. नौकरी छोड़ने के बाद तारीख दर्ज का फायदा यह है कि बाद में अगर आप पीएफ में जमा रकम किसी कारण से निकालना चाहते हैं तो कोई समस्या नहीं होगी.

अभी तक नौकरी छोड़ने के बाद उसकी तारीख दर्ज कराने के लिए कंपनी पर निर्भर रहना पड़ता था.

Tags
Back to top button