पुलिस ने सुलझाई पांच दिन में हत्या की गुत्थी

पुलिस ने इस मामले का पर्दाफाश करते हुए आरोपी प्रेमी व उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

बिलासपुर। गौरेला क्षेत्र के उमरखोई गांव में महिला व बच्ची की जली हुई लाश की पहचान करने के साथ ही पुलिस ने हत्या की गुत्थी भी सुलझा ली है। पुलिस ने इस मामले का पर्दाफाश करते हुए आरोपी प्रेमी व उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

गौरेला के एडिशनल एसपी मधुलिका सिंह व एसडीओपी अभिषेक सिंह ने प्रेस कांफ्रेस कर बताया कि बीते 25 मई की सुबह महिला व बच्ची की जली हुई लाश मिली थी। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी थी।

जांच के दौरान पता चला कि पंडरीपानी निवासी आरोपी राकेश कंवर पिता फगनु कंवर चार साल पहले कमाने खाने के लिए जम्मू-कश्मीर गया था, जहां वह रोड निर्माण कार्य के लिए मजदूरी करता था। इस दौरान उसकी पहचान जांजगीर-चांपा के जैजेपुर निवासी रूखमणी श्रीवास से हुई।

फिर उनके बीच प्रेम संबंध स्थापित हो गया। इसके बाद दोनों वहां से भागकर कठुवा चले गए। करीब ढाई साल तक वहां दोनों बतौर पति-पत्नी रहने लगे। इस दौरान उनकी बच्ची भी हुई। बाद में वह अपनी पत्नी व बच्ची को छोड़कर गांव आ गया।

पति के वापस नहीं आने पर रूखमणी बच्ची को लेकर बीते 6 जून को पंडरीपानी पहुंची। लेकिन, आरोपी के घरवालों ने विवाद किया और उसे घर में घुसने नहीं दिया। इस पर पड़ोस की महिला गीता यादव ने रूखमणी व बच्ची को पनाह दिया।

फिर उसकी दशाम करीब 5 बजे राकेश व उसके भाई सुरेश ने रूखमणी व उसके बच्ची लेकर पेंड्रारोड स्टेशन पहुंचे। फिर ट्रेन में बैठकर कठुवा ले गए। दो दिन कठुवा में रूकने के बाद फिर से महिला व उसकी बच्ची को लेकर बीते 16 जून को बिलासपुर आ गए।

फिर बस में बैठकर दोपहर कारिआम पहुंचे। राकेश ने कारीआम के ठेले में तीन लीटर पेट्रोल खरीदा, जिसे पांच लीटर की जेरीकेन में रखकर उमरखोही जंगल के रास्ते से अपने गांव पंडरीपानी जाने के लिए निकला। साथ में उसकी पत्नी व बच्ची और भाई सुरेश भी थे।

रास्ते में उसने अपनी पत्नी व बच्ची पर डंडे से जानलेवा हमला कर दोनों को मौत के घाट उतार दिया। फिर अपने बड़े भाई सुरेश के साथ मिलकर साक्ष्य छिपाने के लिए महिला व बच्ची के शव को जंगल में पेट्रोल डालकर जला दिया। आरोपियों के अपराध स्वीकार करने के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। इस कार्रवाई में टीआइ विलयम टोप्पो, एएसआइ लकड़ा, घनश्याम आदिल, उदय पाटले व राजेश शर्मा शामिल थे।

Back to top button