श्रम वीरों की खुशहाली के लिए सरकार वचनबद्ध : डॉ. रमन

सीएम ने मई दिवस पर दी मेहनतकशों को बधाई

रायपुर :छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने मंगलवार एक मई को अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर सभी मेहनतकशों को हार्दिक बधाई दी है। डॉ. सिंह ने छत्तीसगढ़ के लाखों श्रमवीरों की सामाजिक-आर्थिक बेहतरी और खुशहाली के लिए अपनी सरकार की वचनबद्धता को दोहराते हुए सभी श्रमिकों को सुखमय और उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

मुख्यमंत्री ने मई दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि दुनिया के किसी भी देश अथवा राज्य की तरक्की और जनता की खुशहाली में श्रमवीरों का सबसे बड़ा योगदान होता है। श्रमवीरों के पसीने से ही खेत लहलहाते हैं, कारखानों में जनता की सुख सुविधा की वस्तुएं बनती हैं, यातायात के लिए लम्बी- चौड़ी सड़कें बनती हैं, रेलमार्ग बनते हैं, ऊंचे-ऊंचे भवन बनते हैं। उन्होंने कहा- इस बात को ध्यान में रखकर छत्तीसगढ़ सरकार ने भी राज्य के लाखों मेहनतकश मजदूरों की सामाजिक- आर्थिक बेहतरी के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। विगत चौदह वर्षों में उनके लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गई हैं।

डॉ.सिंह ने कहा – इस वर्ष से हमने तेंदूपत्ता श्रमिकों की मजदूरी प्रति मानक बोरा 1800 रुपए से बढ़ाकर ढाई हजार रुपए कर दी है, जो देश के किसी भी राज्य की तुलना में सबसे ज्यादा है।
मुख्यमंत्री ने कहा, असंगठित क्षेत्रों के श्रमिकों के लिए राज्य शासन द्वारा श्रम विभाग के अंतर्गत वर्ष 2008 में गठित भवन एवम अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल द्वारा भवन निर्माण गतिविधियों में काम कर रहे लगभग तेरह लाख श्रमिकों का पंजीयन किया गया है। उनके लिए नि:शुल्क साइकिल और सिलाई मशीन सहित विभिन्न योजनाओं का संचालन सफलता पूर्वक किया जा रहा है।

इस मंडल में लगभग 60 प्रकार के कार्यों में लगे श्रमिकों को भवन एवं निर्माण श्रमिक के रूप में अधिसूचित करते हुए उनके कल्याण के लिए 26 प्रकार की योजनाएं चलायी जा रही हैं। शहरों में हर दिन काम की तलाश में आने वाले मजदूरों के लिए श्रमिक बहुल स्थानों पर दीनदयाल श्रम अन्न सहायता योजना के प्रथम चरण की भी शुरुआत हो गई है। इस योजना के तहत उन्हें सिर्फ पांच रूपए में गर्म और पौष्टिक भोजन दिया जा रहा है।

Back to top button