Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:50562 Library:100138 in /home/u485839659/domains/clipper28.com/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1612
छत्तीसगढ़ से वर्ष 2022 तक नक्सलवाद के सफाये के लिए सरकार वचनबद्ध : डॉ. रमन सिंह

छत्तीसगढ़ से वर्ष 2022 तक नक्सलवाद के सफाये के लिए सरकार वचनबद्ध : डॉ. रमन सिंह

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने नक्सल मोर्चे पर राज्य सरकार को केन्द्र से मिल रहे सहयोग और समर्थन के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह को धन्यवाद दिया है। डॉ. रमन सिंह ने आज यहां प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के लिए बस्तर संभाग के तीन जिलों के दौरे पर रवाना होने से पहले कहा – मैंने केन्द्रीय गृह मंत्री को विश्वास दिलाया है कि छत्तीसगढ़ सरकार केन्द्र के सहयोग से नक्सल हिंसा और आतंक को वर्ष 2022 तक समाप्त करने का लक्ष्य लेकर पूरी सक्रियता और सजगता से काम कर रही है। इसके लिए हम वचनबद्ध हैं। प्रभावित इलाकों में जनता की सामाजिक-आर्थिक बेहतरी के साथ-साथ जन-जीवन की सुरक्षा और कानून व्यवस्था की दृष्टि से भी सरकार पूरी गंभीरता से काम कर रही है। विकास यात्रा के दौरान ऐसे क्षेत्रों में करोड़ों-अरबों रूपयों के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन हो रहा है और जनता को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है।

उन्होंने कहा-राज्य के नक्सल प्रभावित जिलों में प्रदेश और केन्द्र के सुरक्षा बलों के परस्पर समन्वय से जो अभियान चल रहा है, उसके फलस्वरूप नक्सलियों के पांव धीरे-धीरे उखड़ने लगे हैं। हालांकि यह एक लम्बी लड़ाई है, जिसमें काफी सावधानी और सतर्कता से काम करने की जरूरत है। उन्होंने सरगुजा का उदाहरण दिया और कहा कि सरगुजा में जनता के सहयोग और सुरक्षा बलों की मदद से हमने लड़ाई जीत ली है और वहां के लोग शांति से जी रहे हैं और विकास योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं। बस्तर में भी हम लोग बहुत जल्द नक्सल समस्या को पूरी तरह समाप्त कर देंगे। डॉ. सिंह ने कहा-पिछले चार वर्षों में हमने नक्सल मोर्चे पर व्यापक बदलाव देखा है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह द्वारा जिस सूझ-बूझ के साथ रणनीति बनाकर राज्यों को मार्गदर्शन दिया जा रहा है, उससे प्रभावित राज्यों में नक्सलवाद के खात्मे की दिशा में सकारात्मक नतीजे मिलने लगे हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा-केन्द्रीय गृह मंत्री ने कई मोर्चों पर छत्तीसगढ़ की मदद की है, जिनमें चार नई बस्तरिया बटालियनों की स्वीकृति, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की एक नई बस्तरिया बटालियन, सहायक आरक्षकों को किए गए भुगतान की प्रतिपूर्ति के लिए अनुदान और पूर्व के 75 थानों के अलावा 50 नये फोर्टीफाइड थाने आदि शामिल हैं।

डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री और केन्द्रीय गृह मंत्री ने वामपंथी उग्रवाद जिलों के लिए विशेष केन्द्रीय सहायता में छत्तीसगढ़ को तीन साल में 700 करोड़ रूपए की मदद की स्वीकृति दी है। यह राशि ऐसे इलाकों में अधोसंरचना विकास की दृष्टि से काफी उपयोगी होगी। डॉ. सिंह ने कहा-नक्सल प्रभावित इलाकों में अतिरिक्त मोबाइल टावरों की भी स्वीकृति केन्द्र से मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्री ने कल रायपुर में आयोजित समीक्षा बैठक में छत्तीसगढ़ में चल रहे नक्सल उन्मूलन अभियान की तारीफ करते हुए राज्य सरकार का हौसला बढ़ाया। डॉ. रमन सिंह ने इस बैठक में केन्द्रीय गृह मंत्री को राज्य में नक्सल हिंसा और आतंक से निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की और अब तक की उपलब्धियों की जानकारी दी।

new jindal advt tree advt
Back to top button