छत्तीसगढ़

संविलियन से सरकार का इंकार अहंकारी राज हठ : जोगी

रायपुर:  छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मी लगातर हड़ताल पर हैं। प्रदेश में पढ़ाई व्यवस्था पूरी तरह ठप हो चुकी है और ऐसे में सरकार का बयान संविलियन न हुआ है न होगा। ये अहंकारी राज हठ है। ये बातें मंगलवार को प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कही है। 

जोगी ने कहा कि, मुख्यमंत्री का शिक्षाकर्मियों की संविलियन जायज मांगों को नकार दिया गया है, जो अहंकारी राज हठ को इंगित करता है या फिर मुख्यमंत्री सिंह लगभग 15 साल से शासन करते हुए ऊब चुके हैं।

उनकी संविलियन का विरोध शिक्षाकर्मियों के जख्मों पर मरहम लगाने के स्थान पर नमक मिर्च का तड़का लगाकर पुराने जख्मों को कुरेदने जैसा है। मुख्यमंत्री का अहंकारी बयान शिक्षाकर्मियों को और ज्यादा उत्तेजित और उद्वेलित करने वाला है जो भाजपा सरकार की परंपरागत असंवेदनशीलता को उजागर करता है

जोगी ने कहा है कि, शिक्षाकर्मियों के इस सहासिक संघर्ष में वह उनके साथ है तथा अगले वर्ष जकांछ के सत्ता में आते ही उनकी संविलियन की जायज मांग को पूरा किया जाएगा।

Back to top button