मुआवजा बताकर किसानों को सरकार दे रही भीख

फसल का बीमा करने वाली कंपनी इफ्को टोकियो ने सैकडों किसानों के साथ मजाक किया

भरत ठाकुर

बिलासपुर-मध्यप्रदेश के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी सरकार किसानों को फसल बीमा की राशि देकर उनके हालात का मजाक उड़ा रही है, रमन सरकार बिना बताए किसानों के खाते से सैकड़ों रूपये प्रीमियम तो काट ले रही है, लेकिन अब मुआवजा देने के समय भीख के रूप् में दो-चार रूपये दे रही है। आंकड़ों तो यहीं बया कर रही हैं , कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश पांडेय ने कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार किसानों की खून चूस रही है, सरकार की मिलीभगत से किसानों से करोड़ो रूपये लेकर उनकी फसल का बीमा करने वाली कंपनी इफ्को टोकियो ने सैकडों किसानों के साथ मजाक किया है।

बीमा कंपनी ने फसल बीमा के एवज में किसानों के खाते में डेढ़ दो चार पांच रूपये ही नहीं बल्कि कुछ पैसे तक जमा किया है, जबकि किसानों से प्रीमियम लेते समय ना तो पैसा काटने की जानकारी दी गई , ना ही क्लेम अमाउंट बताया गया, अब जब कंपनी को क्लेम देना पड़ रहा है, तो किसनो को भीख के रूप् में पैसा बांट रही है।

उन्होने हैरानी जताते हुए कहा कि प्रशासन के जिम्मेदार पद पर बैठे अफसर भी इस मुदे पर बिलकुल लापरवाह दिख रहे हैं , जब उन्होंने फसल का बीमा करने वाली कंपनी के मैनेजर से बात कि तो बताया कि सिंचित में प्रति हेक्टेयर 37 हजार और असिंचित में किसानों को प्रति हेक्टेयर 31 हज़ार रुपए देने का प्रावधान है ,, लेकिन बीमा कंपनी क्लेम राशि में गड़बड़ करने में जुट गई है, सरकार भी बखूबी साथ निभा रही है, अब जब किसान न्याय की गुहार लगा रहे है, मदद के लिए सरकार की तरफ देंख रहे है, तो रमन सरकार उनसे मुंह मोड़ रही है।

new jindal advt tree advt
Back to top button