राष्ट्रीय

सरकार ने माना नकदी का संकट, नोटबंदी की अफवाह से खाली हो गए एटीएम

तीन शिफ्ट में छपेंगे नोट, उठाए जा रहे कुछ और कदम

नई दिल्ली। देश के तकरीबन 10 राज्यों में कैश की भारी किल्लत की समस्या सामने आई है। इसके चलते एटीएम में नकदी की पर्याप्त आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ऐसे में आमलोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। अब इस समस्या से निपटने के लिए नोटों की छपाई में तेजी लाने का फैसला किया गया है। दूसरी तरफ फिर से नोट बंदी की अफवाह तेजी से फैलने से लोगों बैंकों और एटीएम में कतार लगा कर नोट निकला रहे हैं। जिसकी वजह से ज्यादातर एटीएम ड्राई हो चुके हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मध्य प्रदेश के देवास में नोटों की छपाई तेज हो गई है। वहां अब तीन शिफ्टों में काम किए जाएंगे ताकि नकदी की आपूर्ति को सुचारू किया जा सके। दूसरी तरफ, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नकदी संकट की बात को सिरे से खारिज किया है। उन्होंने कहा कि बैंकों और बाजार में पर्याप्त मात्रा में कैश हैं, लेकिन नकदी की मांग अचानक बढ़ने के कारण दिक्कत सामने आई है। केंद्रीय मंत्री ने 500 के नोटों की ज्यादा छपाई करने की भी बात कही है। जेटली ने ट्वीट किया, देश में नोटों की उपलब्धता की समीक्षा की गई है। कुल मिलाकर पर्याप्त मात्रा में करेंसी प्रचलन में हैं। बैंकों के पास भी नकदी उपलब्ध है। कुछ क्षेत्रों में अचानक और अप्रत्याशित तरीके से निकासी के कारण अस्थाई तौर पर यह समस्या सामने आई है, जिससे अविलंब निपटा जा रहा है। अरुण जेटली ने बताया कि फिलहाल 1,25,000 करोड़ रुपए की कैश करेंसी मौजूद है।

कुछ राज्यों के पास ज्यादा नकदी : इस बीच वित्त राज्य मंत्री एसपी. शुक्ला ने कहा, एक समस्या यह है कि कुछ राज्यों के पास कम जबकि कुछ के पास ज्यादा नकदी है। इस समस्या के निदान के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की गई है। उच्चाधिकारियों का कहना है कि जिस राज्य में नकदी की किल्लत सामने आ रही है, वहां पड़ोसी राज्यों से कैश मंगाया जा रहा है।

2 हजार के नोटों की कालाबाजारी : बता दें कि 200 के नोटों के लिए देश भर के एटीएम को नए नोटों के अनुकूल बनाना करने की प्रक्रिया भी चल रही है। इस बीच, मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री ने 2000 के नोटों के कालाबाजारी की बात कही है। हालंकि, एसबीआई के प्रमुख रजनीश कुमार ने इसे खारिज किया है। उन्होंने नकदी में कमी के लिए भौगोलिक वजहों को जिम्मेदार ठहराया है। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में पिछले कुछ सप्ताह से नकदी की समस्या सामने आ रही थी। ऐसे में महाराष्ट्र और कर्नाटक से कैश की आपूर्ति की जा रही थी, लेकिन अब पूर्वी महाराष्ट्र, बिहार, गुजरात समेत अन्य राज्यों से भी एटीएम में पैसों की किल्लत की समस्या सामने आई है।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.