यूपी में सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सैलरी बोली लगाकर बढ़ाई जाएगी

यूपी में सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की सैलरी बोली लगाकर बढ़ाई जाएगी

यूपी में अब सैलरी के लिए भी बोली लगाई जाएगी. चौंकिए मत, यह डॉक्टरों के लिए लागू हो रहा है. अगर प्राइवेट हॉस्पीटल के डॉक्टर सरकारी हॉस्पीटल में सेवा देना चाहते हैं तो सैलरी के लिए बोली लगानी पड़ेगी.

यानी अगर एक बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अपने वेतन के लिए 60 हजार रुपए की बोली लगाते हैं, उसी जगह के लिए दूसरा बाल रोग विशेषज्ञ 58 हजार रुपए की बोली लगाएगा, तो दूसरे वाले को उस पद पर बहाल कर दिया जाएगा. इसे बिडिंग मॉडल’ व्यवस्था नाम दिया गया है.
यह है पूरा माजरा

सरकार अब निजी अस्पतालों में काम करने वाले विशेषज्ञ डाक्टरों को सरकारी अस्पतालों में भर्ती करने जा रही है. ऐसे डॉक्टरों को उनके मनचाहे वेतन पर सरकारी अस्पतालों में काम करने का अवसर देगी.

इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक भर्ती एजेंसी को चुना है जो प्रदेश में विशेषज्ञ डाक्टरों को भर्ती करेगी.राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के महाप्रबंधक मानव संसाधन संदीप सक्सेना ने गुरूवार को बताया कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में विशेषज्ञ डाक्टरों की काफी कमी है.

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को अधिक बेहतर एवं सुलभ रूप प्रदान करने का निर्णय लिया है. इसके लिए 400 से अधिक एनेस्थीसिया, स्त्री-रोग विशेषज्ञ तथा बाल-रोग विशेषज्ञ के रिक्त पदो को खुले बाजार में प्रचलित ‘बिडिंग मॉडल’ व्यवस्था के माध्यम से भरे जाने का निर्णय किया है.
शुरू हो चुका है पंजीकरण

उन्होंने बताया कि निजी अस्पताल में कार्यरत विशेषज्ञ चिकित्सक यदि उत्तर प्रदेश के किसी अस्पताल में सेवाएं देना चाहते हैं तो विभाग की वेबसाईट पर जाएं और वहां अपने पसंद का जिला एवं अस्पताल चुने.

फिर इच्छित वेतन आनलाइन भरें. अगर आपका वेतन उस विभाग के लिए भरे गए अन्य विशेषज्ञ डाक्टरों से कम होगा तो आपको तुरंत चुन लिया जाएगा.अगर आप उस अस्पताल और जिले के लिए बिडिंग करने वाले इकलौते डाक्टर होंगे तो आपको आपके बताये गए वेतन पर चुन लिया जाएगा.

उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत विशेषज्ञ अपनी पसंद की सुविधाओं के लिए मनचाहे परामर्श शुल्क के विकल्प के साथ ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से बिडिंग कर सकते हैं.
चिकित्सक विस्तृत जानकारी के लिए हेल्पलाइन नं०-011-41011564 और 41011565 पर भी संपर्क कर सकते हैं.

Back to top button