छत्तीसगढ़

सरकार को जनता से ज्यादा अपनी कमाई की चिंता : कांग्रेस

रायपुर : राज्य सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वैट कम न करने के निर्णय ने फिर से यह बताया है कि, रमन सरकार को जनता के हितों से कोई मतलब नहीं है। बुधवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग के चेयरमैन ज्ञानेश शर्मा ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, इस सरकार को जनता की जेब से ज्यादा अपनी कमाई की चिंता है इसलिए अपने ही दल की केंद्र सरकार और केंद्रीय संगठन की बात को दरकिनार कर वैट कम न करने के निर्णय पर अड़ी हुई है।
शर्मा ने कहा कि, एक तरफ महाराष्ट्र, गुजरात और हिमाचल की सरकारें पेट्रोल-डीजल पर से अपने हिस्से के वैट में कटौती कर वहां की जनता को राहत दे रही हैं, तो दूसरी तरफ रमन सरकार सिर्फ अपनी कमाई के चलते यहां की जनता को राहत नहीं दे रही है। यह रमन सरकार की पुरानी आदत है कि, उसे जनता से कोई मतलब नहीं होता। राज्य के किसान सालों से किए हुए वादे के तहत धान का समर्थन मूल्य बढ़ाने और बोनस दिए जाने की मांग कर रही थी, लेकिन सरकार ने नहीं दिया और अब अगले साल होने वाले चुनाव को देखकर अब मुख्यमंत्री एक साल का बोनस बांटते घूम रहे हैं।

भाजपा सरकार को बताया मद में चूर : उन्होंने कहा कि, रमन सरकार अपने मद में इतनी चूर हो चुकी है कि न केवल अपनी ही पार्टी की केंद्र सरकार बल्कि भाजपा के केंद्रीय संगठन से मिले निर्देश की भी अवहेलना कर रही है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों व भाजपा केंद्रीय संगठन ने भाजपा शासित राज्यों को पत्र लिखकर निर्देश दिया था कि, अपने-अपने राज्यों में पेट्रोल-डीजल में वैट कम करें, लेकिन यहां केंद्र सरकार के उस निर्देश को ही दरकिनार कर दिया।
शर्मा ने कहा कि, राज्य के वाणिज्यिक कर मंत्री एक चुने हुए जनप्रतिनिधि की तरह जनता की भलाई सोचने की बजाए एक कारोबारी की तरह सोचकर वैट कम न करने पर अड़े हुए हैं, जनता न केवल उन्हें बल्कि समूची रमन सरकार को आने वाले चुनाव में आइना दिखाएगी।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *