नर्सिंग कॉलेजों के नाम पर आवंटित की गई शासकीय भूमि की भी जांच हो : संजीव अग्रवाल

रायपुर।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रवक्ता और मीडिया समन्वयक संजीव अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ में काँग्रेस की नई नवेली सरकार के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल को जीत की बधाई दी और साथ ही एक गंभीर विषय की ओर उनका ध्यानाकर्षण करते हुए बताया है कि राज्य की राजधानी रायपुर में एमएमआई हॉस्पिटल एवं नारायणा हॉस्पिटल, देवेन्द्र नगर, रायपुर को शासकीय भूमि मिली हुई है। इन अस्पतालों के एग्रीमेंट के अनुसार 15 प्रतिशत ग़रीबों का इलाज मुफ्त में करना अनिवार्य है परंतु यहाँ ग़रीब मरीज़ों का इलाज नहीं होता है।

संजीव अग्रवाल ने बताया कि तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सरकार में एमएमआई अस्पताल को शासकीय भूमि आवंटित की गई थी और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के डॉ रमन सिंह सरकार में नारायणा हॉस्पिटल को शासकीय भूमि आवंटित की गई थी।

साथ ही संजीव अग्रवाल ने यह भी बताया है कि रायपुर के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के OSD, भाजपा नेता एवं RSS से जुड़े डॉक्टरों को भी नर्सिंग कॉलेजों के नाम पर भी आवंटित की गई शासकीय भूमि की भी जांच हो। तत्कालीन भाजपा सरकार में हुई शासकीय भूमि की बंदर-बांट में भाजपा के कई नेताओं के पुत्रों सहित भाजपा से जुड़े कई डॉक्टरों को शासकीय भूमि आवंटित की गई है।

अब जनता काँग्रेस छत्तीसगढ़ जे की यह मांग है कि मौजूदा भूपेश बघेल की सरकार को यह जांच करनी चाहिए कि क्या इन अस्पतालों में सरकारी नियमों के अनुसार ग़रीबों और लाचारों का इलाज़ हो रहा है या फिर गरीबों को मूर्ख बना कर उनके स्मार्ट कार्ड के जरिए पैसों की लूट खसोट की जा रही है?

अतः संजीव अग्रवाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से निवेदन है कि वे संबंधित अधिकारियों को निर्देश देने का कष्ट करें जिससे ग़रीबों को मुफ्त में इलाज उपलब्ध हो सके।

1
Back to top button