सरकार ने बनाई टॉप-50 नक्सली कमांडर की लिस्ट, कैसे होगा सूपड़ा साफ

सरकार ने जिन नक्सली कमांडर की लिस्ट तैयार की है, उनमें 10 महिला कमांडर भी शामिल

रायपुर: सरकार ने छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा और आंध्र प्रदेश आदि राज्यों में सक्रिय टॉप-50 नक्सली कमांडर्स की लिस्ट बनाई है. सरकार ने जिन नक्सली कमांडर की लिस्ट तैयार की है, उनमें 10 महिला कमांडर भी शामिल हैं.

वहीं अन्य कमांडर्स में हिडमा का भी नाम शामिल है. बता दें कि बीजापुर में सीआरपीएफ और डीआरजी के जवानों के खिलाफ हुए हमले में भी हिडमा का ही हाथ बताया जा रहा है. इस हमले में 23 जवान शहीद हो गए थे.

सरकार द्वारा बनाई गई मोस्ट वांटेड लिस्ट में सुकमा में सक्रिय साउथ बस्तर के डिवीज़नल कमांडर रघु, PLGA बटालियन-1 के नागेश और श्रीधर को भी नाम शामिल किया गया है. बीजापुर में सुरक्षाबलों के खिलाफ हुए हमले को भी नक्सलियों की PLGA बटालियन-1 ने ही अंजाम दिया था. महिला नक्सली कमांडर्स में नागमणि, भीम, सुजाता, जैमिति और रीना का भी नाम मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल है.

केंद्र और राज्य सरकार मिलकर चलाएंगी ऑपरेशन

सुरक्षा एजेंसी से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार नक्सलियों के खिलाफ मिलकर एंटी नक्सल ऑपरेशन चलाएंगी. खूफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. खूफिया तंत्र को भी मजबूत किया जाएगा.

गृहमंत्री अमित शाह भी निर्णायक लड़ाई का कर चुके हैं ऐलान बीजापुर की घटना के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने भी कहा था कि नक्सलियों के खिलाफ अब निर्णायक लड़ाई छेड़ी जाएगी और जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा. नक्सलियों ने भी बीजापुर की घटना को अंजाम देकर सरकार के सीधे चुनौती दी है.

बता दें कि बीते दिनों छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सीआरपीएफ, डीआरजी, स्पेशल टास्क फोर्स और कोबरा बटालियन के करीब 2 हजार जवान नक्सलियों की तलाश में उनके गढ़ में पहुंचे थे. लेकिन इस दौरान वह खुद नक्सलियों के निशाने पर आ गए.

नक्सलियों द्वारा चारों तरफ से घेरकर सुरक्षाबलों के जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग की गई. कई घंटे तक दोनों तरफ से गोलियां चलीं, जिनमें सुरक्षाबलों के 23 जवान शहीद हो गए. वहीं 30 से ज्यादा घायल भी हुए थे.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button