सरकार पेट्रोल और डीजल कार पर बढ़ाएंगी टैक्स

इस कदम से लोग पेट्रोल औऱ डीजल कारों की खरीद कम करेंगे

नई दिल्ली। इलेक्टिक वाहनों की ब्रिकी बढ़ाने के लिए सरकार अब इले्क्ट्रिक वाहनों को ज्यादा तबज्जो दे रही है। सरकार के इस कदम से इलेक्ट्रिक वाहनों की ब्रिकी बढ़ेगी।

ग्राहक तभी इलेक्ट्रिक वाहन खरीदेंगे जब उनकी कीमत इंटरनल कंबक्शन इंजन वाहनों जितनी होगी। उनके मुताबिक इलेक्ट्रिक वाहन पर 1 फीसदी टैक्स बढ़ाने से बड़ी मात्रा में पैसा आएगा जिससे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए सब्सिडी दी जा सकती है।

इसके लिए सरकार पेट्रोल और डीजल कार पर ज्यादा टैक्स लगाने की योजना बना रही है। वित्त मंत्रालय को लगता है कि इससे सरकार पर अतिरिक्त बोझ नहीं पड़ेगा। वित्त मंत्रालय ने एक्जिक्यूटिव फाइनेंस कमेटी को एक मेमोरेंडम भेजा है।

ये मेमोरेंडम फेम स्कीम के दूसरे चरण का हिस्सा है। इंडस्ट्री के जानकारों के मुताबिक इस कदम से लोग पेट्रोल औऱ डीजल कारों की खरीद कम करेंगे। इस खबर पर सियाम और वित्त मंत्रालय ने कोई टिप्पणी नहीं की है।

लेकिन जानकारों का कहना है कि इसका भार पारंपरिक वाहन खरीदने वालों पर नहीं होना चाहिए। फेम स्कीम के दूसरे चरण को लागू करने को 3 बार टाला जा चुका है। नई स्कीम इस साल सिंतबर तक आ जाएगी।

Back to top button