छत्तीसगढ़

फोर्स की कमी से सरकार के तबादला और प्रमोशन आर्डर टोकरी में…

डीएसपी से लेकर टीआई लेबल तक किए गए ट्रांसफर आॅर्डर के बाद भी कर्मचारियों को रिलीव नहीं किया जा रहा

रायपुर, बिलासपुर। जिले मे पर्याप्त पुलिस बल के अभाव में पीएचक्यू के तबादला आदेश की धज्जियां उड़ रही हैं। डीएसपी से लेकर टीआई लेबल तक किए गए ट्रांसफर आॅर्डर के बाद भी कर्मचारियों को रिलीव नहीं किया जा रहा है। एडीजी प्रशासन ऐसे जिलों के पुलिस अधीक्षकों को रिमांडर देने की बात कह रहे हैं। चुनावी साल में पुलिस मुख्यालय ने एक के बाद एक तीन साल से अधिक एक ही जिले में जमे पुलिस अधिकारियों का ट्रांसफर आदेश निकाला था। इसमे एक जिला बिलासपुर भी है। पुलिस स्थापना बोर्ड के द्वारा 31 मार्च को निकाले गए आदेश में शहर के 5 निरीक्षकों का नाम ट्रांसफर लिस्ट में शामिल है जिन्हें तत्काल रिलीव करने का फरमान डीजीपी द्वारा दिया गया है। इधर डीजीपी के आदेश पर अमल ना करके निरीक्षकों को जिले से करीब दो माह बाद भी छोड़ा नहीं जा रहा है।

मुंगेली जिले में भी निरीक्षकों का टोटा

मुंगेली जिले में भी निरीक्षकों व पर्याप्त पुलिस बल की कमी है, जिसके लिए समय समय पर मांग से मुख्यालय स्तर पर अवगत कराया जाता रहा है। वर्तमान में जिले के अधिकांश थानों में प्रभारियों से काम चलाया जा रहा हैं महीनों पूर्व जिन निरीक्षकों का स्थानांतरण मुंगेली किया गया उन्हें भी अभी तक सम्बंधित स्थान से भारमुक्त नहीं करने के चलते यहां ज्वाइनिंग नहीं हो पाई है। वर्तमान चुनावी वर्ष होने के चलते आए दिन धरना, आंदोलन, प्रदर्शन विभिन्न राजनीतिक दलों, कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। ऐसे में पुलिस बल की कमी होने से व्यवस्था बनाने में अनेक दिक्कतें आ रही है, जिससे पुलिस विभाग की किरकिरी भी होती है।

पूरे रेंज में यही हालात

पुलिस मुख्यालय से ट्रांसफर आदेश निकलने के बाद से ही निरीक्षकों को रिलीव नहीं करने की लगभग स्थित जिला समेत पूरे रेंज में बनी हुई है। रेंज के पांचों जिलों के एसपी ने निरीक्षकों को रिलीव नहीं किया है।

प्रमोट हो कर भी रुके

इस मामले में लगता है बिलासपुर जिले का हाल सब से बेहाल है। निरीक्षक से डीएसपी प्रमोट हुए जिले के एक पुलिस अधिकारी का रायपुर ट्रांसफर हो गया है। मगर उन्हें भी रिलीव नहीं किया गया। सिविल लाइन थाने का चार्ज डीएसपी स्तर के अधिकारी के कंधों पर है।

बल की कमी बनी वजह

पुलिस विभाग में बल की कमी का अक्सर रोना रहता है। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एसपी आरिफ शेख इसलिए डीएसपी और निरीक्षकों को रिलीव नहीं कर रहे हैं क्योंकि जिले में पर्याप्त बल नहीं है।

ऐसे में कैसे चलाएंगे जिला

अधिकारियों को तबादले में भेज दिया गया तो जिले को चलाना मुश्किल हो जाएगा। भले आदेश डीजीपी का हो जब तक जाने वालों के एवज में जिले को पुलिस अधिकारी नहीं मिलते तब तक इन्हें रिलीव नहीं किया जाएगा।

इनका यहां हुआ ट्रांसफर
1-आशीष अरोरा-मुंगेली
2-परिवेश तिवारी-जांजगीर-चाम्पा
3-युवराज तिवारी-रायगढ़
4-रघुनंदन पी डी शर्मा-कोरबा
5-राहुल तिवारी-रायपुर

रिलीव करने दिया आदेश: एडीजी

एडीजी प्रशासन संजय पिल्ले ने क्लिपर-28 से बातचीत में बताया कि डीएसपी से लेकर टीआई स्तर तक किये गये ट्रांसफर वालों को रिलीव करने कहा गया है। उनके बदले पुलिस अधिकारी नहीं आने की एक वजह रिलीव नहीं करना हो सकती है फिर भी रिमाइंडर भेजा जाएगा।

Tags

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button