महंगाई को काबू में करने के लिए ईंधन पर टैक्स में कमी करे सरकार: RBI गवर्नर

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने सरकार से गुजारिश की

नई दिल्‍ली।सरकार महंगाई को काबू में करने के लिए ईंधन पर टैक्स में कमी करे। इससे Inflation ऊपर नहीं जाएगा। जून में ही रिटेल महंगाई दर 7 माह के उच्‍च स्‍तर पर रही है। क्‍योंकि खाने और ईंधन के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने सरकार से गुजारिश की है।

उन्‍होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद Indian economy को सही दिशा में लाने के लिए सरकार के स्तर पर भी बड़े कदम उठाने की जरूरत है। उन्‍होंने साफ किया है कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए समग्र मौद्रिक उपाय किए जाने की जरूरत है। साथ ही यह भी व्यवस्था होनी चाहिए कि महंगाई की स्थिति भी आने वाले दिनों में लक्ष्य के दायरे में हो।

हर स्तर पर कदम उठाने होंगे

बता दें कि कुछ दिन पहले भी दास ने कहा था कि इकोनॉमी को गति देने के लिए राजकोषीय, मौद्रिक और क्षेत्रीय हर स्तर पर कदम उठाने होंगे। RBI ने मौद्रिक नीति की हालिया समीक्षा में फिलहाल ब्याज दरों को स्थिर रखा है। हालांकि समिति ने कहा है कि आगे हालात को देखते हुए ब्याज दर निचले स्तर पर रखने की कोशिश जारी रहेगी।

कंपनी के वर्कफोर्स की तादाद भी पांच लाख को पार कर गई। पेट्रोल और डीजल (Petrol and Diesel) की कीमतों में गुरुवार को भी लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी जारी रही, जिससे कीमतें देश भर में नई ऊंचाई को पार कर गईं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत बुधवार को 100.21 रुपये से 35 पैसे बढ़कर गुरुवार को 100.56 रुपये प्रति लीटर हो गई. शहर में डीजल की कीमत 89.62 रुपये प्रति लीटर दर्ज की गई।

दो महीने में ज्‍यादा बढ़ोतरी

देश भर में पेट्रोल और डीजल दोनों की खुदरा कीमतों में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी हुई, लेकिन राज्यों में स्थानीय करों के स्तर के आधार पर वास्तविक दरें भिन्न थीं। देश में ईंधन की कीमतें पिछले दो महीने से ज्‍यादा समय से बढ़ रही हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button